ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

पुलिस विभाग के बम निरोधक दस्ता प्रभारी के नाम फर्जी फेसबुक आइडी बनाकर साइबर ठगी की साजिश

जबलपुर। जिला पुलिस के बम निरोधक दस्ता प्रभारी निरीक्षक पंकज सिंह के नाम व फोटो का उपयोग कर साइबर ठगों ने फर्जी फेसबुक आइडी बनाई। जिसके बाद उनकी फ्रेंड लिस्ट में शामिल लोगों से फेसबुक मैसेंजर पर चैटिंग कर ठगी का प्रयास किया गया। उक्त जानकारी मिलने पर निरीक्षक सिंह ने फेसबुक पर जानकारी देकर लोगों को सतर्क करते हुए ओमती थाने में शिकायत दर्ज कराई। विदित हो कि विगत माह कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के नाम व फोटो का उपयोग करते हुए फर्जी फेसबुक आइडी बनाकर इसी तरह की ठगी का प्रयास किया गया था। इधर, निरीक्षक सिंह की सक्रियता के कारण तमाम लोग साइबर ठगी का शिकार होने से बच गए।

बहुत अर्जेंट है, दोस्त का एक्सीडेंट हो गया है: निरीक्षक सिंह ने बताया कि उनकी फोटो व नाम का इस्तेमाल कर फेसबुक पर फर्जी फेसबुक आइडी बनाई गई। जिसके बाद उनके संपर्क वालों से फेसबुक मैसेंजर पर चैटिंग कर साइबर ठग ने रुपयों की मांग की। अज्ञात ठग ने लोगों को बताया कि किसी करीबी दोस्त का एक्सीडेंट हो गया है। जिसकी मदद के लिए फौरन पैसों की आवश्यकता है। उसने किसी से चार हजार तो किसी से 5-15 हजार रुपये मांगे।

फेसबुक पर जुड़े लोगों ने दी सूचना: फर्जी फेसबुक आइडी पर मैसेंजर से ठग के साथ चैटिंग करने वाले कुछ लोगों ने फोन कर निरीक्षक सिंह से बात कर अविलंब पैसों की आवश्यकता की पुष्टि की। जिसके बाद साइबर ठगी के प्रयास की घटना का पता चला। निरीक्षक सिंह ने अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट डालकर लोगों को आगाह किया कि उनके नाम पर किसी भी तरह से नेटबैंकिंग पर लेनदेन न किया जाए।