ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

टाक्टे का असर, 10 साल में मई में सबसे ठंडा रहा बुधवार

भोपाल। अरब सागर में उठे चक्रवाती तूफान टाक्टे के असर से राजधानी सहित प्रदेश के अनेक जिलों में रूक-रूक कर बौछारें पड रही हैं। बादल छाए रहने और बारिश होने के कारण अधिकतम तापमान में गिरावट हो रही है। इसी क्रम में बुधवार को शहर का अधिकतम तापमान 35.2 डिग्रीसेल्सियस दर्ज किया गया। जो सामान्य से छह डिग्रीसे. कम रहा। साथ ही यह 10 वर्ष में मई माह का दिन का सबसे कम तापमान रहा।

मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक टाक्टे के प्रभाव से लगातार नमी आने के कारण तीन दिन से बादल मौजूद हैं। साथ ही रूक-रूक कर बरसात हो रही है। इससे वातावरण में ठंडक घुल गई है और अधिकतम तापमान में गिरावट हो रही है। मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि टाक्टे के असर से राजधानी सहित प्रदेश के अधिकतर जिलों में बादल छाए हुए हैं और बरसात भी हो रही है। वर्तमान में तूफान अवबाद के रूप में राजस्थान से पश्चिमी उत्तरप्रदेश की तरफ बढ रहा है। इसके असर से गुरूवार को भी उप्र से लगे मप्र के ग्वालियर, चंबल, रीवा, सागर संभाग के जिलों में बरसात होने की संभावना है। वातावरण में बड;े पैमाने में नमी मौजूद रहने से राजधानी सहित अन्य जिलों में भी दोपहर बाद तापमान बढ;ने से गरज-चमक के साथ हल्की बौछारें पड; सकती हैं। शुक्ला ने बताया कि वर्ष 2012 से लेकर अभी तक बुधवार को दर्ज किया गया अधिकतम तापमान 35.2 मई माह का दिन का सबसे कम तापमान है। इसके पूर्व सोमवार को अधिकतम तापमान 35.5 डिग्रीसे. दर्ज किया गया था। इसके पहले 14 मई 2015 को अधिकतम तापमान 35.6 डिग्रीसे रिकार्ड किया गया था। गुरूवार से अधिकतम तापमान में कुछ बढ;ोतरी होने की संभावना है।