ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

पांच दिन से पूछताछ कर रही पुलिस, जब्त नहीं कर पाई मोखा का मोबाइल

जबलपुर नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की खरीद फरोख्त में आरोपित सिटी हॉस्पिटल के डायरेक्टर सरबजीत सिंह मोखा का मोबाइल फोन एसआइटी जब्त नहीं कर पाई है। मोखा से करीब पांच दिन से पुलिस लगातार पूछताछ कर रही है। रिमांड अवधि समाप्त हो जाने के बाद उसे सोमवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। एसआइटी सूत्रों का कहना है कि मोखा के माेबाइल में नकली इंजेक्शन के कारोबार से संबंधित कई राज दफन हैं।

अधिकारियों का कहना है कि पूछताछ में मोखा ने स्वीकार किया है कि सिटी हॉस्पिटल में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन उपयोग में लाए गए थे। बाद में सैकड़ों इंजेक्शन उसने अपने घर ले जाकर नष्ट करवा दिए थे। मोखा के नकली इंजेक्शन कारोबार के साथ ही विगत दिनों रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के प्रकरणों की जांच में तेजी आई है। आगा चौक स्थित एक निजी अस्पताल की दवा दुकान से जुड़े सीए पर पुलिस की नजर है।

पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा का कहना है कि रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी व नकली इंजेक्शन के प्रकरण में लिप्त किसी भी आरोपित को बख्शा नहीं जाएगा। इधर, एसआइटी गुजरात की जेल में बंद सपन जैन, पुनीत शाह व कौशल बोरा को जबलपुर लाने के लिए वैधानिक कार्रवाई कर रही है। सिटी हॉस्पिटल तक नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन पहुंचाने के मामले में आशानगर अधारताल निवासी सपन जैन की मुख्य भूमिका सामने आ चुकी है। सूरत निवासी पुनीत व कौशल नकली इंजेक्शन बनाने की फैक्ट्री चला रहे थे। इसी प्रकार गुजरात पुलिस सरबजीत सिंह मोखा, देवेश चौरसिया को प्रोडक्शन वारंट पर गुजरात ले जाने की तैयारी में है।

यह है मामला: गुजरात पुलिस ने मोरबी क्षेत्र में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वाली फैक्ट्री पकड़ी थी। फैक्ट्री में निर्मित 500 से ज्यादा नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन सिटी हॉस्पिटल के डायरेक्टर मोखा ने सपन जैन के माध्यम से खरीदे थे। इस मामले में मोखा का बेटा हरकरण, पत्नी जसमीत कौर, मैनेजर सोनिया खत्री, देवेश चौरसिया को गिरफ्तार कर पुलिस जेल भेज चुकी है। रिमांड अवधि खत्म होने के बाद सोमवार को मोखा को कोर्ट के समक्ष पेश किया जाएगा।