ब्रेकिंग
सतगुरू कबीर संत समागम समारोह दामाखेड़ा पहुंच कर विधायक इन्द्र साव ने लिया आशीर्वाद विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद

नौकरी लगाने के नाम पर 20 लाख रुपये की ठगी, आरोपित गिरफ्तार

बिलासपुर। ऊंची पहुंच के सहारे नौकरी लगाने के नाम पर 20 लाख की धोखाधड़ी के मामले में सिविल लाइन पुलिस ने आरोपित युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपित को न्यायालय में पेश किया है।

सिविल लाइन थाना प्रभारी सुरेंद्र स्वर्णकार ने बताया कि कबीरधाम जिले के कवर्धा दर्रीपारा में रहने वाले लक्की मेहरा(23 वर्ष) कोनी में रहकर पढ़ाई करते थे। इस दौरान उनकी पहचान तिफरा के यदुनंदन नगर में रहने वाले उत्सव जायसवाल से हुई थी।

इस दौरान उत्सव ने लक्की को अपनी ऊंची पहुंच का झांसा दिया। साथ ही भविष्य निधि संगठन में कंप्यूटर सहायक के पद पर नौकरी लगाने की बात कही। वहीं उसके भाई को आरपीएफ में आरक्षक के पद पर नौकरी लगाने का झांसा दिया। इसके लिए उसने लक्की से 20 लाख स्र्पये की मांग की।

इस पर लक्की ने चार फरवरी 2018 की दोपहर अपने भाई हीरा सिंह, बहन मेमबती और कन्हैया चंद्रवंशी के साथ मंगला चौक के पास उत्सव जायसवाल को 10 लाख स्र्पये दिए थे। इसके बाद उसने आठ दिसंबर को डेढ़ लाख दिए थे। बाद में और स्र्पये मांगने पर लक्की ने उत्सव को 29 जून 2019 को तीन लाख स्र्पये दिए। इसके बाद विभिन्न् माध्यमों से लक्की ने उत्सव को पांच लाख और दिए।

इसके बाद भी उनकी नौकरी नहीं लगी। इस पर लक्की ने सिविल लाइन थाने में धोखाधड़ी की शिकायत की थी। इस पर पुलिस जुर्म दर्ज कर आरोपित की तलाश कर रही थी। सोमवार की सुबह पुलिस को पता चला कि आरोपित अपने घर आया हुआ है। इस पर पुलिस की टीम ने घेराबंदी कर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपित को न्यायलय में पेश किया है।