ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

मंदसौर में बोलीं मेधा पाटकर, कृषि कानून वापस लेने तक जारी रहेगी लड़ाई

मंदसौर। 6 जून 2017 को हुए किसान आंदोलन में मारे गए छह किसानों की चौथी बरसी पर रविवार को किसान नेताओं ने दिवंगत किसानों की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धाजंलि दी। शहीद किसान दिवस पर टकरावद में हुई श्रद्धाजंलि सभा में नर्मदा बचाओ आंदोलन से जुड़ी मेधा पाटकर और पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन सहित अनेक नेता शामिल हुए। पाटकर ने कहा कि जब तक किसानों की मांगे नही मानी जाती लड़ाई जारी रहेगी।

नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए तीनों कृषि कानून वापस लेने तक लड़ाई जारी रहेगी। कोरोना व लाकडाउन के नाम पर सरकार पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने का काम कर रही है। मंदसौर का किसान आंदोलन एक जन आंदोलन बना व आज देश भर में जगह-जगह आंदोलन हो रहे हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस से भाजपा में जाने पर उन्होंने कहा कि राजनीति आजकल बाजार हो गई है। इस दौरान पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन, किसान समन्वय समिति जिलाध्यक्ष दिलीप पाटीदार, अमृतराम पाटीदार सहित अनेक किसान नेता उपस्थित थे।

क्या हुआ था किसान आंदोलन में

1 जून 2017 को प्याज व अन्य फसलों के उचित दाम सहित अन्य मांगों को लेकर शुरू हुए किसान आंदोलन ने 6 जून को हिंसक रूप ले लिया था। तब पुलिस व सीआरपीएफ जवानों द्वारा चलाई गई गोलियों से पूनमचंद पाटीदार टकरावद, कन्हैयालाल पाटीदार चिल्लोद पिपलिया, अभिषेक पाटीदार बरखेड़ा पंथ, सत्यनारायण धनगर लोध, चेनराम पाटीदार नयाखेडा की गोली लगने से मौत हो गई थी वहीं बड़वन निवासी घनश्याम धाकड़ की दलौदा पुलिस चौकी में पुलिस की पिटाई से मौत हो गई थी।