ब्रेकिंग
सतगुरू कबीर संत समागम समारोह दामाखेड़ा पहुंच कर विधायक इन्द्र साव ने लिया आशीर्वाद विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद

अचानकमार टाइगर रिजर्व में घायल बाघिन पिंजरे में कैद, चार घंटे मशक्कत के बाद किया रेस्क्यू

बिलासपुर। अचानकमार टाइगर रिजर्व में घायल बाघिन को चार घंटे की मशक्कत के बाद मंगलवार की सुबह 10 बजे रेस्क्यू कर लिया गया है। रायपुर जंगल सफारी व कान्हा टाइगर रिजर्व से पहुंची चिकित्सकों की टीम ने ट्रैंक्यूलाइजर गन से बेहोश किया। बेहोश होने के बाद बाघिन को कानन पेंडारी जू से मंगाए गए पिंजरे में डाला गया। घायल बाघिन को लेकर दल कानन पेंडारी जू के लिए रवाना हो गया। बाघिन को कानन में तब तक रखा जाएगा जब तक वह पूरी तरह स्वस्थ्य नहीं हो जाती।

छपरवा रेंज के बरमाननाला के समीप बाघिन के घायल होने की जानकारी मिली थी। वनकर्मी की इस सूचना के बाद हड़कंप मच गया। डिप्टी डायरेक्टर सत्यदेव शर्मा ने तत्काल इस संबंध में वन्य प्राणी प्रधान मुख्य वनसंरक्षक नरसिंह राव को अवगत कराया। साथ ही जंगल सफारी की रेस्क्यू टीम की मदद मांगी। मामला बाघ का होने के कारण प्रधान मुख्य वनसंरक्षक सोमवार को खुद रेस्क्यू टीम को लेकर अचानकमार टाइगर रिजर्व पहुंचे। इधर अचानकमार टाइगर रिजर्व प्रबंधन ने कान्हा टाइगर रिजर्व से भी मदद मांगी थी।

जिस पर वहां के चिकित्सक डा. संदीप अग्रवाल भी रवाना हुए। हालांकि दोनों टीम को पहुंचते- पहुंचते अंधेरा हो गया। इसके बाद भी रात में बाघिन को तलाश करने का प्रयास किया गया। लेकिन रेस्क्यू टीम को बाघिन नजर नहीं आई। ऐसी स्थिति में सुबह रेस्क्यू करने का निर्णय लिया गया। सुबह पांच से जंगल सफारी के चिकित्सक डा. राकेश वर्मा व कान्हा के चिकित्सक डा. संदीप अग्रवाल मौके पर पहुंचे।

डा. वर्मा के हाथों में ट्रैंक्यूलाइजर गन था। इसी में बेहोश करने की दवा था। एक निर्धारित दूरी से उन्होंने बाघिन पर निशाना साधा। जो सीधे बाघिन पर लगी थी। थोड़ी ही देर में वह बेहोश हो गई। बेहोश होने के बाद अन्य वनकर्मी पहुंचे और उसे पिंजरे में डाला गया। यह पिंजरा कानन पेंडारी जू मंगाया गया था। शाम चार बजे तक बाघिन को लेकर अमला कानन पेंडारी जू पहुंचेगा।

पीठ में हैं घाव

अचानकमार टाइगर रिजव के डिप्टी डायरेक्टर सत्यदेव शर्मा ने मामले की पुष्टि की। उनका कहना है कि बाघिन घायल थी। उसकी पीठ पर पुराने घाव है। जिसके चलते वह कमजोर हो गई है। रेस्क्यू कर बाघिन को कानन पेंडारी जू भेजा गया है। जब तक स्वस्थ्य नहीं हो जाती कानन व जंगल सफारी के चिकित्सकों की निगरानी में कानन पेंडारी जू में रखा जाएगा। घायल बाघिन की उम्र 12 साल है।