ब्रेकिंग
विधायक इन्द्र साव ने विधायक मद से लाखों के सी.सी. रोड निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन भाटापारा में बड़ी कार्यवाही 16 बदमाशों को गिरफ़्तार किया गया है, जिसमें से 04 स्थायी वारंटी, 03 गिरफ़्तारी वारंट के साथ अवैध रूप से शराब बिक्री करने व... अवैध शराब बिक्री को लेकर विधायक ने किया नेशनल हाईवे में चक्काजाम अधिकारीयो के आश्वासन पर चक्का जाम स्थगित करीबन 1 घंटा नेशनल हाईवे रहा बाधित। भाटापारा। अवैध शराब बिक्री की जड़े बहुत मजबूत ,माह भर के भीतर विधायक को दोबारा बैठना पड़ा धरने पर , विधानसभा सत्र छोड़ अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं ... श्रीराम जन्मभूमि में नवनिर्मित भव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर भाटापारा भी रामभक्ति की लहर पर जमकर झुमा शहर में दीपमाला, भजन, आतिशबाजी, भंडा... मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम मंदिर अयोध्या की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के उपलक्ष में भाटापारा में भी तीन दिवसीय आयोजन, बाइक रैली, 24 घंटे का रामनाम... छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रभारी शैलजा कुमारी की छुट्टी राजस्थान के सचिन पायलट होंगे छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी साय मंत्रिमंडल में कल ,ये 9 विधायक लेंगे मंत्री पद की शपथ साय मंत्रिमंडल का कल होगा विस्तार 9 मंत्री लेंगे शपथ बलौदा बाजार को भी मिलेगा पहली बार मंत्री पद छत्तीसगढ़ भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष होंगे किरण सिंह देव

नौकरी दिलाने के नाम पर गब्बर ने ठगा दो लाख, धोखाधड़ी का केस दर्ज

रायपुर। एक ड्राइवर के बेटे को नौकरी दिलाने के नाम पर दो लाख रुपए की ठगी करने का मामला सामने आया है। ठगी की इस वारदात को किसी और ने नहीं, बल्कि गब्बर ने अंजाम दिया है। यह सुनकर आप जरूर चौंक जाएंगे लेकिन यह सच है। लेकिन यह आरोपित शोले फिल्म का गब्बर सिंह नहीं बल्कि सिद्धार्थ बंगानी है, जिसने अपने फेसबुक अकाउंट में अपना नाम (गब्बर) रखा हुआ है।

गोबरा नवापारा थाना पुलिस के मुताबिक वार्ड क्रमांक 14, बंगानी हार्डवेयर देना बैक गोवरा नवापारा निवासी आरोपित सिद्धार्थ बंगानी उर्फ गब्बर पिता रमेश ने ग्राम कुर्रा निवासी सालिक राम साहू(33) को डाटा एंट्री ऑपरेटर के पद पर कुरूद में नौकरी लगाने के नाम पर जून 2019 में किश्तों में कुल दो लाख रूपए ठग लिए। लेकिन जब दो साल तक बेटे की नौकरी नहीं लगावाई तब थाने में शिकायत की पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

परेशान होकर पीड़ित ने एसएसपी अजय यादव से मिलकर शिकायत की। पुलिस कप्तान के निर्देश पर गुरूवार को आरोपित सिद्धार्थ बंगानी उर्फ गब्बर के खिलाफ गोबरा नवापारा पुलिस थाने में चार सौ बीसी का अपराध दर्ज कर लिया गया। फिलहाल वह फरार है

राजनीतिक पहुंच दिखाकर दी धमकी

पुलिस के मुताबिक, आरोपित सिद्धार्थ बंगानी ने सालिक राम साहू को डाटा एंट्री आपरेटर कुरूद में नौकरी लगाने की गारंटी देकर दो लाख रुपए ले लिए और कहा था कि यदि 15 दिन के अंदर ज्वानिंग या ज्वानिंग लेटर प्राप्त नहीं होगा, तो वह पूरा पैसा वापस कर देगा। पहली किस्त एक लाख 50 हजार रुपए की 27 जून 2019 को ली। इसके बाद कहा कि सालिक भाई आपका पूरे पैसे मैंने आज साहब के पास जमा कर दिए हैं। फिर 28 जून 2019 को पुनः सालिक से कहा कि एक अधिकारी का ट्रांसफर हो गया है, जिसके कारण आपको 30 हजार रुपए और देने होंगे।

झांसे में आकर सालिक ने पुनः 30 हजार रुपए दिए। इसके बाद भी नौकरी नहीं लगी तो आरोपित सिद्धार्थ बंगानी ने धमकाते हुए कहा कि वह भाजपा की राजनीति से जुडा हुआ है। भाजपा के बड़े नेताओं के साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह, पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, अमर अग्रवाल समेत अन्य से उसके अच्छे संबंध हैं और बड़े पापा, चाचा व पापा मुख्य रूप से इस काम में उसके साझेदार हैं।

साथ ही जिस व्यक्ति को नौकरी की आवश्यकता है या किसी पद के लिए योग्यता रखते है वे पैसा लेकर नौकरी लगवाते है, जिसमें से उन्हें दस से तीस फीसद कमीशन मिलता है। इसके बाद भी जब नौकरी नहीं लगी तो गब्बर उर्फ सिद्धार्थ बंगानी ने सालिक राम को उठवा दूंगा और मार दूंगा की धमकी देने लगा। इसके बाद पुनः झांसे में लेकर बीस हजार रूपए राजिम की मीनल शर्मा के पीएनबी खाते में जमा करवाए।

पूर्व मुख्यमंत्री समेत भाजपा कई नेताओं के साथ आरोपित की तस्वीरें

आरोपित सिद्धार्थ उर्फ गब्बर की भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं के साथ तस्वीरें इंटरनेट मीडिया पर अपलोड हैं। वह इन नेताओं की तस्वीरें दिखाकर सालिक राम को लगातार धमकाता आ रहा था। पुलिस को शक है कि वह अन्य बेरोजगारों को भी नौकरी दिलाने के नाम पर पैसे ठग चुका है। इधर, एफआईआर दर्ज होने के बाद आरोपित समझौता करने की कोशिश में जुट गया है।