Jain
ब्रेकिंग
प्लॉट खरीदते समय इन बातों का रखें ध्यान, बढ़ेगी सकारात्मक ऊर्जा और होगा भरपूर लाभ कर्ज से मुक्ति के लिए आजमाएं वास्तु शास्त्र से जुड़े उपाय भगवान कृष्ण से सम्बंधित 13 खास मंदिर 14 घंटे रेस्क्यू चलने के बावजूद 17 लोगों को नहीं खोज सके; घाटों पर गोताखोर तैनात जहां सीएम मनाएंगे अमृत महोत्सव, वहां कलेक्टर-आईजी ट्रैक्टर से पहुंचे भाद्रपद माह में जन्माष्टमी और गणेश उत्सव जैसे कई बड़े त्योहार घर में इस जगह पर रखें फेंगशुई ड्रैगन, सकारात्मक ऊर्जा का होगा संचार और बरसेगा धन इन लॉकेट को पहनने के जानें फायदे और नुकसान, धारण करने के जानें नियम सुबह से खिली है तेज धूप; जुड़ने लगे हैं गंगा के घाट अंबाला कैंट के PWD रेस्ट हाउस में सुनेंगे शिकायतें

मुख्यमंत्री जी! यह है राजधानी की सड़कों का हाल..बेफिक्र हैं जिम्मेदार

भोपाल। बारिश शुरू होते ही बदहाल सड़कों ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। शहर के मुख्यमार्गों का डामर उखड़ने से जगह-जगह गड्ढे हो गए हैं। वाहन चालकों से लेकर पैदल चलने वाले लोगों तक का चलना दूभर हो गया है। लोग बदहाल सड़कों की समस्या से निजात पाने के लिए नगर निगम प्रशासन के अधिकारियों से लेकर सीएम हेल्पलाइन में शिकायत कर रहे हैं। कह रहे हैं कि ये है मुख्यमंत्री जी राजधानी की सड़कों का हाल..बेफिक्र हैं आपके जिम्मेदार अफसर। इसके बावजूद भी सड़कों के गड्ढे नहीं भरे जा रहे हैं।

होशंगाबाद रोड : जगह-जगह उखड़ा डामर, सर्विस रोड खोदी

वीर सावरकर सेतु से लेकर मिसरोद तक होशंगाबाद रोड का जगह-जगह डामर उखड़ गया है। बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के प्रवेश, ज्ञान-विज्ञान भवन, बागसेवनियां थाना, मिसरोद प्राथमिक अस्पताल, थाने के सामने सड़क का डामर उखड़ गया है। इससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सार्विस रोड पर गैस की पाइपलाइन बिछाने का काम चल रहा है। जगह-जगह सर्विस रोड खोदी जा रही है।

दूरी-6 किमी

प्रभावित आबादी : 5 लाख

राहगीर का दर्द : होशंगाबाद रोड को संवारने के लिए नगर निगम प्रशासन ने लाखों रुपये पानी की तरह बहाए। साइकिल ट्रैक पहले से उखड़ा है। अब सड़क उखड़ने से आने-जाने में परेशानी हो रही है।

-अनंत अवस्थी,राहगीर

कोलार रोड : सीवेज नेटवर्क बिछाने से बदहाल हुई

कोलार सर्किट हाउस से लेकर गोल जोड़ तक सड़क में नयापुरा, गेहूंखेड़ा, मंदाकिनी, मां काली मंदिर, बैरागढ़ चीचली, गोल जोड़ सहित कई जगह डामर उखड़ने से आधा-आधा फीट गहरे और तीन से चार फीट तक लंबे गड्ढे हो गए हैं। बारिश का पानी भरने से वाहन चालकों को गड्ढे दिखाई नहीं देते हैं। इससे वाहन चालक फिसल कर गिर जाते हैं। 135 करोड़ के सीवेज नेटवर्क बिछाने का काम चलने से खोदाई के कारण सड़क बदहाल हुई है।

दूरी : 13 किमी

प्रभावित आबादी : 2.5 लाख

हर जगह खोदाई : कोलार मुख्यमार्ग पर जगह-जगह सीवेज नेटवर्क लाइन बिछाने के लिए खोदाई की गई है। इससे मुख्यमार्ग बदहाल हो गया है। कॉलोनी की सड़कें पहले से ही बदहाल हैं।

-डीपी द्विवेदी, अध्यक्ष कोलार रहवासी विकास समिति

हमीदिया रोड : उखड़ा डामर, लग जाता है जाम

पुराने शहर की हमीदिया रोड पर ट्रैफिक का दवाब अधिक रहता है। पीक आवर समय सुबह 10 से दोपहर 12 और शाम पांच से सात बजे तक 60 हजार से वाहन निकलते हैं। नादरा बस स्टैंड के पास, भोपाल टॉकीज, पुरानी सब्जी मंडी के सामने सहित कई जगह सड़क का डामर उखड़ने से लोगों का चलना दूभर हो गया है। लोग एक बार प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारियों को शिकायत कर चुके हैं।

दूरी : 2 किमी

प्रभावित आबादी : 8 लाख

सीएम हेल्पलाइन में करेंगे शिकायत : हमीदिया रोड पर जगह-जगह गड्ढे हो गए हैं। बारिश का पानी भरने से आवाजाही में दिक्कत होती है। जिम्मेदार अधिकारी सुन नहीं रहे हैं। सीएम हेल्पलाइन में शिकायत करेंगे।

-मोहम्मद इमरान खान, प्रेस सचिव जमीअत उलमा

शाहपुरा रोड : गिट्टियों में फिसलने का बढ़ा खतरा

कोलार नहर चौराहे से शाहपुरा मनीषा मार्केट तिराहे तक की सड़क में जगह-जगह डामर उखड़ने से गिटि्टयां सड़क पर बिछ गई हैं। इससे वाहनों चालकों को फिसलने का खतरा बना रहता है। इस सड़क से शाहपुरा के अलवा चूनाभट्टी, कोलार की आबादी रोजाना आवागमन करती है। सड़क पर गिटि्टयां बिछने से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

दूरी : 1 किमी

प्रभावित आबादी : 3 लाख

रात में नहीं दिखती गिट्टियां : शाहपुरा झील के कोने में 15 से 20 फीट पूरा डामर निकल गया है। गिट्टियां बिछी हैं। रात के समय नहीं दिखती हैं। लोग फिसलकर चोटिल हो रहे हैं।

-दीपक साहू,राहगीर

..और इन सड़कों पर भी चलना हुआ दूभर

बावड़ियां कला दाना पानी के पास, सात नंबर मानसरोवर कांप्लेक्स से लेकर वीर सावरकर सेतु, भेल दशहरा मैदान से आइटीआइ, अन्ना नगर तिराहे से लेकर कस्तूरबा अस्पताल व पुराने शहर की नदीम रोड, जहांगीराबाद, पीर गेट, मोती मस्जिद, कमला पार्क, सुल्तानिया अस्पताल, शाहजहांनाबाद सहित कई सड़कों में जगह-जगह गड्ढे हैं।

इनका कहना

सड़कों के गड्ढे भरने का काम नगर निगम प्रशासन की ओर से कराया जाता है। बारिश में डामरीकरण कार्य नहीं कर सकते हैं। सीवेज व पानी की पाइपलाइन के लिए जिन सड़कों को खोदा गया है, उनकी मरम्मत भी कराने का काम किया जा रहा है।

-वीएस चौधरी कोलसानी, नगर निगम आयुक्त

-पीडब्ल्यूडी डिवीजन दो की ओर से शहर की 40 किमी सड़कों का डामरीकरण कराया है। कोलार रोड सीवेज नेटवर्क लाइन बिछाने के लिए खोदी गई है। इसकी मरम्मत नगर निगम प्रशासन को संबंधित एजेंसी से कराना है। बाकी पीडब्ल्यूडी की सड़कें दुरुस्त हैं।

-अवेंद्र सिंह,एई पीडब्ल्यूडी

-भेल टाउनशिप की सड़कों की मरम्मत का कार्य समय पर किया जाता है। जिन सड़कों पर गड्ढे हैं, उन्हें जल्द भरवाया जाएगा। इससे लोगों को आने-जाने में परेशानी नहीं होगी।

-राघवेंद्र शुक्ल, भेल प्रवक्ता