Jain
ब्रेकिंग
रमा देवी बंशीलाल गुर्जर और नम्रता प्रितेश चावला के नाम पर चल रहा मंथन महिलाओं की उंगलियां होती है ऐसी, स्वभाव से होती हैं गंभीर और बड़ी खर्चीली इन चीजों से किडनी हो सकती है खराब दिल्ली से किया था नाबालिग को अगवा, CCTV फुटेज से आरोपियों की हुई थी पहचान गृह विभाग में अटकी फ़ाइल, क्या रिटायर्ड होने के बाद होगा प्रमोशन एशिया कप के लिए टीम का ऐलान आज वास्तु की ये छोटी गलतियां कर सकती हैं आपका बड़ा नुकसान, खो सकते हैं आप अपना कीमती दोस्त आय से अधिक संपत्ति मामले में शिबू सोरेन को लोकपाल का नोटिस बाइक से कोरबा लौटने के दौरान हादसा, दूसरे जवान की हालत गंभीर; पुलिस लाइन में पदस्थ थे दोनों | road accident in chhattisharh; bike rider chhattisgarh p... खरीदें Redmi का शानदार 5G स्मार्टफोन

निगम-मंडल की सूची लेकर पुनिया दिल्ली रवाना, इधर-भाजपा ने सीएम पर किया कटाक्ष

रायपुर। निगम-मंडलों में नियुक्ति की सूची तैयार हो गई है। यह सूची लेकर प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया दिल्ली रवाना हो गए हैं। वहां, राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के अनुमोदन के बाद जल्द ही सूची जारी की जाएगी। सूत्रों के अनुसार सूची तीन श्रेणी में तैयार की गई है। इस वजह से बहुत बड़ी है।

पहली श्रेणी में अध्यक्षों के नाम हैं, इनकी संख्या अधिकतम 14 बताई गई है। दूसरी में उपाध्यक्षों के नाम हैं, इनकी संख्या 36 के आसपास है। वहीं, तीसरी श्रेणी सदस्यों की है। इनकी संख्या सौ से अधिक है। दावेदारों ने अपने-अपने जुगाड़ लगाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है। वहीं, वरिष्‍ठ पदाधिकारियों ने भी कइयों की पैरवी की है। अब देखना है कि किसको मौका मिल रहा है।

सीएम के संवाद पर नेता प्रतिपक्ष का कटाक्

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल क इंटरनेट मीडिया पर आयोजित क्लब हाउस के संवाद पर नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कटाक्ष किया है। कौशिक ने कहा कि वक्त वादों को निभाने का है, तब आप बहानों के भरोसे हैं। जनता ने जब बस्तर में विकास की जिम्मेदारी दी है, तब आप कह रहे हैं कि नक्सली विकास करने नहीं दे रहे हैं।

विकास की पूर्ण जवाबदारी आपकी है। इस तरह से नक्सलियों का सहारा कब तक लेते रहेंगे। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा था कि आदिवासी क्षेत्रों में लड़ाई जल, जंगल, जमीन की है। छत्तीसगढ़ सरकार आदिवासियों को जमीन देना चाह रही है, लेकिन नक्सली नहीं चाहते कि किसी आदिवासी को शासकीय पट्टा मिले। समस्याओं को लेकर आदिवासियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं से बात की जा रही है।