ब्रेकिंग
नगरीय प्रशासन मंत्री ने आरंग में नागरिकों से की भेंट मुलाकात पानीपत में इंपीरियम पाम ड्राइव आवासीय प्लॉट लॉन्च, ग्रीन जोन, मार्केट कॉम्प्लेक्स समेत अन्य सुविधाएं वर्ष 2005 में चोरी गई 11 लाख कैश से भरी तिजोरी ढूंढने के लिए पुलिस ने ली जामा तलाशी CM के कार्यक्रम में भाषण कांग्रेस MLA को रोका था वहीं काम करने वाले ट्रैक्टर ड्राइवर पर आरोप, पुलिस के पहुंचने से पहले हुआ फरार महिलाओं के लिए मिसाल बन रही हैं बस्तर की पहली महिला ‘मोटर मैकेनिक’- हेमवती नाग सुपरिटेंडेंट इंजीनियर समेत 3 अधिकारी निलंबित; मंत्री हरभजन सिंह ने दिए जांच के आदेश रजिस्ट्री कराने आए लोग परेशान, जरनेटर भी सालों से खराब, कोई वैकल्पिक व्यवस्था भी नहीं टेंट हाउस व्यापार कैसे शुरू करें | How to Start Tent House or Stage Business in Hindi संचालक डॉ. मेहिया और कुलपति डॉ. तिवारी वीसीआई में सदस्य मनोनीत

कलेक्टर की अध्यक्षता में जिला साक्षरता समिति की बैठक


प्रौढ़ शिक्षा योजना के तहत चलेगा पढ़ना-लिखना अभियान
जिले में 15 वर्ष से अधिक उम्र के लगभग 75 हजार
असाक्षरों को पंाच साल में साक्षर बनाने का लक्ष्य

बलौदाबाजार, 28 अक्टूबर 2020/कलेक्टर श्री सुनील कुमार जैन की अध्यक्षता में जिला साक्षरता मिशन की कार्यकारिणी समिति की बैठक आज यहां जिला कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में प्रौढ़ शिक्षा योजना के अंतर्गत आगामी पांच वर्षों के लिए पढ़ना लिखना अभियान की जिले में स्वीकृति की जानकारी दी गई। वित्तीय वर्ष 2020-21 से शुरू होकर यह योजना 2024-25 तक चलेगी। योजना में 15 वर्ष से अधिक उम्र समूह के लोगों को साक्षर बनाना अभियान का प्रमुख लक्ष्य होगा। जिले में 75 हजार 360 असाक्षर लोगों को पांच साल में साक्षर बनाने के लिये प्रारंभिक रूप से चिन्हित किया गया है। चालू वर्ष में इनमें से 8 हजार असाक्षरों को साक्षर बनाने का लक्ष्य तय किया गया है।
समिति की बैठक में अधिकारियों ने बताया पढ़ना लिखना अभियान मूल रूप से बुनियादी साक्षरता पर केन्द्रित होगा। बलौदाबाजार जिले की साक्षरता दर वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार 70.63 प्रतिशत है। इनमें 82.79 प्रतिशत पुरूष एवं 58.57 प्रतिशत महिला साक्षर हैं। पन्द्रह वर्ष से अधिक आयु के असाक्षर व्यक्तियों की संख्या जिले में 3 लाख 82 हजार के लगभग हैं। आगामी पांच सालों में इनमें से लगभग 76 लाख लोगों को साक्षर बनाना है। इनमें 54 हजार महिला एवं 22 हजार के लगभग पुरूष शामिल हैं। बैठक में तय किया गया कि इस वित्तीय साल इनमें से 8 हजार लोगों को साक्षर बनाया जायेगा। विकासखण्ड वार इस लक्ष्य को आवंटित करने पर बलौदाबाजार को 2 हजार, बिलाईगढ़ एवं कसडोल को डेढ़-डेढ़ हजार और सिमगा, पलारी एवं भाटापारा विकासखण्ड को एक-एक हजार का लक्ष्य दिया गया है।
राजीव गांधी शिक्षा मिशन के परियोजना समन्वयक श्री सोमेश्वर राव ने बताया कि 15 वर्ष से अधिक उम्र के असाक्षर लोगों को बुनियादी रूप से साक्षर बनाना योजना का प्रमुख लक्ष्य है। चिन्हित लोगों को चार महीने की अवधि में 120 घण्टे की पढ़ाई कराई जायेगी। शहरी और ग्रामीण दोनों इलाकों में योजना समान रूप से संचालित होगी। एनसीसी, एनएसएस, नेहरू युवा केन्द्र एवं समाजसेवी संस्थाओं के सहयोग से योजना का संचालन किया जायेगा। महिला, अनुसूचित जाति, जनजाति एवं समाज के वंचित तबके के लोगों को प्राथमिकता से कवर किया जायेगा। बैठक में जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ फरिहा आलम सिद्धिकी, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्री बी.के.राजपूत, जिला शिक्षा अधिकारी श्री चैनसिंह धु्रव, राजीव गांधी शिक्षा मिशन के समन्वयक श्री सोमेश्वर राव सहित कार्यकारिणी समिति के सदस्य उपस्थित थे।