Jain
ब्रेकिंग
रमा देवी बंशीलाल गुर्जर और नम्रता प्रितेश चावला के नाम पर चल रहा मंथन महिलाओं की उंगलियां होती है ऐसी, स्वभाव से होती हैं गंभीर और बड़ी खर्चीली इन चीजों से किडनी हो सकती है खराब दिल्ली से किया था नाबालिग को अगवा, CCTV फुटेज से आरोपियों की हुई थी पहचान गृह विभाग में अटकी फ़ाइल, क्या रिटायर्ड होने के बाद होगा प्रमोशन एशिया कप के लिए टीम का ऐलान आज वास्तु की ये छोटी गलतियां कर सकती हैं आपका बड़ा नुकसान, खो सकते हैं आप अपना कीमती दोस्त आय से अधिक संपत्ति मामले में शिबू सोरेन को लोकपाल का नोटिस बाइक से कोरबा लौटने के दौरान हादसा, दूसरे जवान की हालत गंभीर; पुलिस लाइन में पदस्थ थे दोनों | road accident in chhattisharh; bike rider chhattisgarh p... खरीदें Redmi का शानदार 5G स्मार्टफोन

जमकर बरसे मेघ, पारा पहुंचा 30 डिग्री के करीब

बिलासपुर। एक चक्रीय चक्रवात और द्रोणिका के असर से शुक्रवार रात जमकर बारिश हुई। शनिवार सुबह तक शहर के कई इलाके जलमग्न हो गए। वातावरण में ठंडक महसूस होने लगी है। दिन का अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस के करीब पहुंच गया है। मौसम विभाग की मानें तो अभी 23 जून तक बारिश की संभावना बनी हुई है।

लालपुर स्थित मौसम वेधशाला के विज्ञानी डा.एचपी चंद्रा के मुताबिक एक निम्न दाब का क्षेत्र दक्षिण पूर्व उत्तर प्रदेश और उसके आसपास स्थित है। इसके साथ हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा मध्य ट्रोपोस्फेरिक लेवल तक स्थित है। एक द्रोणिका पश्चिम राजस्थान से उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी तक दक्षिण हरियाणा, दक्षिण पूर्व उत्तर प्रदेश, झारखंड, गंगेटिक पश्चिम बंगाल होते हुए 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। एक चक्रीय चक्रवाती घेरा 5.8 किमी ऊंचाई तक बांग्लादेश में स्थित है।

20 जून को प्रदेश के कई स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने या गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ वज्रपात हो सकती है। प्रदेश में अधिकतम तापमान में मामूली वृद्धि के साथ विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है। यह स्थिति संभाग में भी बनी रहेगी। बिलासपुर में अधिकतम तापमान 30.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। वहीं न्यूनतम तापमान 24.4 डिग्री है। पेंड्रारोड में अधिकतम तापमान 27.3 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है।

कई इलाकों में भरा पानी

बारिश के कारण कई इलाकों में पानी भर गया था। तोरवा, सरकंडा, सिरगिट्टी सहित रेलवे परिक्षेत्र के कई घर इससे प्रभावित हुए। नालियां जाम हो गईं। हालांकी नगर निगम और रेलवे की ओर से तत्काल सफाई अभियान चलाकर दोपहर तक व्यवस्था दुरुस्त कर ली गई। इससे आमजन को काफी राहत मिली।