Jain
ब्रेकिंग
रमा देवी बंशीलाल गुर्जर और नम्रता प्रितेश चावला के नाम पर चल रहा मंथन महिलाओं की उंगलियां होती है ऐसी, स्वभाव से होती हैं गंभीर और बड़ी खर्चीली इन चीजों से किडनी हो सकती है खराब दिल्ली से किया था नाबालिग को अगवा, CCTV फुटेज से आरोपियों की हुई थी पहचान गृह विभाग में अटकी फ़ाइल, क्या रिटायर्ड होने के बाद होगा प्रमोशन एशिया कप के लिए टीम का ऐलान आज वास्तु की ये छोटी गलतियां कर सकती हैं आपका बड़ा नुकसान, खो सकते हैं आप अपना कीमती दोस्त आय से अधिक संपत्ति मामले में शिबू सोरेन को लोकपाल का नोटिस बाइक से कोरबा लौटने के दौरान हादसा, दूसरे जवान की हालत गंभीर; पुलिस लाइन में पदस्थ थे दोनों | road accident in chhattisharh; bike rider chhattisgarh p... खरीदें Redmi का शानदार 5G स्मार्टफोन

भोपाल, जबलपुर, होशंगाबाद, शहडोल, रीवा में तेज बौछारें पड़ने के आसार

भोपाल। अरब सागर में बने ऊपरी हवा के चक्रवात और पूर्वी उत्तर प्रदेश पर बने एक ऊपरी हवा के चक्रवात के कारण अरब सागर से नमी मिलने का सिलसिला शुरू हुआ है। इस वजह से जबलपुर, रीवा, शहडोल, भोपाल, होशंगाबाद के जिलों में बुधवार-गुरुवार को तेज बौछारें पड़ने की संभावना बढ़ गई है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में बांग्लादेश के पास भी एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इसके दो दिन बाद शक्तिशाली होकर आगे बढ़ने के आसार हैं। इसके प्रभाव से भी मध्य प्रदेश में बारिश की गतिविधियों में कुछ तेजी आ सकती है।
मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान बुधवार सुबह साढ़े आठ बजे तक धार में 102.8, सीधी में 55.2, उज्जैन में 44, भोपाल (शहर) में 14.6, खंडवा में 14, छिंदवाड़ा में 12.4, जबलपुर में 12.2, मंडला में 8, सिवनी में 7.4, पचमढ़ी में 5, मलाजखंड में 4.1, होशंगाबाद में 3.2, नरसिंहपुर में 3, दमोह में 2, भोपाल (एयरपोर्ट) में 1.6 मिलीमीटर बारिश हुई।
मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि मानसून के आगमन के साथ ही प्रभावी वेदर सिस्टम नहीं बनने के कारण राजधानी सहित प्रदेश में अपेक्षित बरसात नहीं हुई है। अलबत्ता वातावरण में मौजूद नमी के कारण तापमान बढ़ने पर कहीं-कहीं बौछारें पड़ रही हैं। शुक्ला के मुताबिक वर्तमान में अरब सागर और पूर्वी उत्तर प्रदेश पर बने सिस्टम (ऊपरी हवा के चक्रवात) के कारण पूर्वी मध्यप्रदेश और उससे लगे भोपाल, होशंगाबाद संभाग में नमी मिलने लगी है। इस वजह से इन क्षेत्रों में रुक-रुककर बारिश होने की संभावना है।