Jain
ब्रेकिंग
महू में दो गुटों में विवाद के बाद बम फोड़ा; 2 की मौत, 15 से ज्यादा घायल रोटी भी बदल सकती है किस्मत डीजीपी का सिल्वर मेडल भी आज लखनऊ में देंगे एडीजी जोन,खुशी की लहर देर शाम आई सभी के पास प्रशासन फोन कॉल, 30 स्वतंत्रता सेनानियों के आश्रितों किया गया था आमंत्रित आजादी के अमृत महोत्सव के लिए रंग बिरंगी रोशनियों से सजा ग्वालियर दुगरी फेस-1 में हुआ हमला,अदालत में गवाही न देने के लिए हमलावर बना रहे थे दबाव भाजयुमो के मंत्री ने कार के सन रूफ से निकलकर झंडे की फोटो की थी पोस्ट 100 फूट ऊंचा लहरा रहा तिरंगा,लाइटों से जगमगाया शहर, दुल्हन की तरह सजी सड़कें रैली निकालकर लगाए भारत माता की जयकारे, बच्चों और ग्रामीणों ने किया समरसता भोज राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने किया ध्वजारोहण

ठेकेदार ने अधिकारियों से साठगांठ कर अमृत के हर कनेक्शन पर 1500 रुपये तक वसूले

ग्वालियर। शहर के लिए वरदान लेकर आई अमृत योजना की आड़ में धांधली चल रही है। अमृत योजना से लोगों के घरों तक निशुल्क कनेक्शन दिए जाने थे। इन सभी कनेक्शनों के पैसे सरकार ने ठेकेदार को दिए, लेकिन इसके बाद भी ठेकेदार ने लोगों से 1500 रुपये प्रति कनेक्शन के हिसाब से अवैध वसूली की है। अवैध वसूली की जानकारी मिलने पर नईदुनिया टीम वार्ड 51 के हैदरगंज में पहुंची और लोगों से बात की। उन्होंने बताया कि ठेकेदार ने उनसे पैसे लिए हैं और इसकी रसीद भी नहीं दी है। स्थानीय लोगों ने इसका विरोध किया तो पीएचई के कर्मचारी मौके पर पहुंचे थे और उन्होंने पैसे वापस कराने को कहा, लेकिन यह पैसे आज तक वापस नहीं मिले है।

अमृत योजना के तहत 44 हजार घरों में नल कनेक्शन दिए गए हैं, प्रत्येक नल कनेक्शन के लिए सरकार ने ठेकेदार को 3000 रुपये का भुगतान भी किया है। नल कनेक्शन देते हुए जनता से पैसे नहीं लेने थे, यह कनेक्शन आमजनों को मुफ्त दिए जाने थे, लेकिन इसके बाद भी ठेकेदारों ने अधिकारियों के साथ साठगांठ कर अवैध वसूली की है। प्रत्येक व्यक्ति से 1500 रुपये लिए गए हैं। हैदरगंज में करीब 800 कनेक्शन दिए गए हैं, ऐसे में ठेकदार ने 12 लाख रुपये की अकेले हैदरगंज से ही अवैध वसूली की है। यही हाल शहर के अन्य इलाकों का भी है, ठेकेदार ने लोगों से कहा कि नए नल कनेक्शन अमृत योजना में दिए जा रहे हैं, इसलिए इसके पैसे लगेंगे। लोगों को पता नहीं था इसके चलते उन्होंने पैसे दिए।

आधार कार्ड की फोटो कापी भी ले गएः ठेकेदार ने रहवासियों से नल कनेक्शन देते समय आधार कार्ड की फोटो कापी भी ली। इतना ही नहीं जब उन्होंने ने कहा कि वे 1500 रुपये की रसीद दें तो इस पर उन्हें रसीद बिल के साथ आने का जवाब मिला। बिल तो दूर की बात रहवासियों के घरों में अभी तक पानी भी नहीं पहुंचा है।

वर्जन-

नल कनेक्शन के लिए ठेकेदार ने मुझसे 1500 रुपये लिए हैं, मैंने उनसे रसीद मांगी तो उन्होंने नहीं दी। यहां पर सभी लोगों से पैसे लिए हैं।

नजमा, निवासी हैदरगंज

वर्जन-

मुझसे नल कनेक्शन के नाम पर पैसे लिए गए हैं, जबकि अभी तक पानी आना शुरू नहीं हुआ है। मैंने नल कनेक्शन देने आए लोगों को 1300 रुपये दिए हैं।

सलमा, निवासी हैदरगंज

वर्जन-

मुझसे और मेरी बेटियों से नल कनेक्शन के लिए 1500-1500 रुपये लिए गए हैं। साथ ही पूरे मोहल्ले से पैसे लिए गए हैं, जबकि अभी हमें पता चला है कि यह तो फ्री होने थे।

परवीन, निवासी हैदरगंज

वर्जन-

हम लोग गरीब हैं, 1500 रुपये भी हमारे लिए बड़ी रकम है, लेकिन ठेकेदार के लोगों ने नल कनेक्शन के लिए हमसे पैसे लिए हैं। इसका पता बाद में चला।

अफसरी, निवासी हैदरगंज

वर्जन-

यहां पर हर घर से पैसे लिए गए हैं, मैंने इस बात की शिकायत विधायक से की, तो यहां पर पीएचई के अधिकारी आए और उन्होंने पैसे वापस दिलाने की बात कही, लेकिन आज तक पैसे नहीं आए हैं। नल कनेक्शन में शहरभर में काफी घोटाला हुआ है।

महबूब चैनवाले, निवासी हैदरगंज

वर्जन-

अमृत योजना के तहत लोगों को निशुल्क कनेक्शन दिए जाने हैं। अगर किसी अन्य वजह से भी पैसे लिए गए हैं तो उनकी रसीद देनी चाहिए थी। पैसे भी लिए हैं और रसीद भी नहीं दी यह गंभीर मामला है। मैं इसकी जांच करवा लेता हूं।

आशीष सक्सेना, संभागायुक्