Jain
ब्रेकिंग
रमा देवी बंशीलाल गुर्जर और नम्रता प्रितेश चावला के नाम पर चल रहा मंथन महिलाओं की उंगलियां होती है ऐसी, स्वभाव से होती हैं गंभीर और बड़ी खर्चीली इन चीजों से किडनी हो सकती है खराब दिल्ली से किया था नाबालिग को अगवा, CCTV फुटेज से आरोपियों की हुई थी पहचान गृह विभाग में अटकी फ़ाइल, क्या रिटायर्ड होने के बाद होगा प्रमोशन एशिया कप के लिए टीम का ऐलान आज वास्तु की ये छोटी गलतियां कर सकती हैं आपका बड़ा नुकसान, खो सकते हैं आप अपना कीमती दोस्त आय से अधिक संपत्ति मामले में शिबू सोरेन को लोकपाल का नोटिस बाइक से कोरबा लौटने के दौरान हादसा, दूसरे जवान की हालत गंभीर; पुलिस लाइन में पदस्थ थे दोनों | road accident in chhattisharh; bike rider chhattisgarh p... खरीदें Redmi का शानदार 5G स्मार्टफोन

ग्रामीण क्षेत्र के 45 लाख घरों में मिलेगा शुद्ध पानी

बीजापुर। जिलेवासियों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए हर घर में नल कनेक्शन देने का लक्ष्‌य निर्धारित किया है। इसके लिए मुख्यमंत्री ने 12 कार्यों के लिए चार करोड़ 13 र्स्पये की स्वीकृति प्रदान की है। बता दें कि भैरमगढ़ ब्लाक के ग्राम पंचायत मंगलनार में 45.80 लाख से सिंगल विलेज, ग्राम पंचायत बड़े तुंगाली में 85.14 लाख स्पर्धा, मंगलनार में 37.89 लाखे, ग्राम पंचायत गुदमा अंतर्गत 46.46 लाख, तुमला में 44.25 लाख रेट्रोफिटिंग, बीजापुर ब्लाक अंतर्गत ग्राम पंचायत पेद्दाकोड़ेपाल 44.33 लाख रेट्रोफिटिंग, ब्लाक भोपालपटनम के ग्राम पंचायत गुल्लापेंट्टा रेट्रोफिटिंग अंतर्गत 40.84 लाख, ग्राम पंचायत रूद्रारम एवं चेरपल्ली में 68.59 लाख के रेट्रोफिटिंग कार्य शामिल है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दो दिन पहले ही कहा कि प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों के 45 लाख 48 हजार घरों में जल-जीवन मिशन के तहत हर घर में शुद्ध पेयजल पहुंचाने का लक्ष्‌य है। अभी पांच लाख से अधिक घरों में नल कनेक्शन है। इस वर्ष 22 लाख घरों में नल पहुंचाया जाएगा। ग्रामीणों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए राशि की

कमी नहीं होगी। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि पूरी लगन के साथ कार्य करें। इस दौरान उन्होंने कहा कि जिन घरों में नल कनेक्शन दिया जाएगा वहां नल के आस-पास पेड़-पौधे लगाने और पानी निकासी के लिए सोख्ता गड्ढा बनाने के लिए निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रति व्यक्ति 55 लीटर पानी जल-जीवन मिशन अंतर्गत प्रदाय किया जाना है, जिससे भूमिगत जल स्तर पर भी प्रभाव पड़ेगा। ऐसी स्थिति में जल स्त्रोतों का संधारण और पूरी क्षमता के साथ उनका उपयोग करना होगा साथ ही जल-जीवन मिशन योजना को नरवा प्रोजेक्ट से जोड़ा जाएगा, जिससे भूमि के जल स्तर में संतुलन बना रहे।

विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने कहा कि प्रदेश के 39 लाख घरों में शुद्ध पेयजल देने की शुरूआत हो रही है। यह कार्य जल्द से जल्द पूर्ण होगा। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री रूद्र कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश के प्रत्येक गांव में मुफ्त पेयजल पहुंचाने के लिए योजना तैयार की गई है। पहले प्रतिदिन प्रत्येक घर 40 लीटर जल उपलब्ध

कराया जा रहा था। जल-जीवन मिशन के तहत 55 लीटर जल उपलब्ध कराया जाएगा। ग्रामीण शालाओं, आश्रम शाला, आंगनबाड़ी, स्वास्थ्य केन्द्रों में भी रनिंग वाटर की व्यवस्था की जा रही है। इस अवसर पर उपस्थित कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, कवासी लखमा, प्रेमसाय सिंह टेकाम, मोहम्मद अकबर, मंत्री डा. शिवकुमार डहरिया, उमेश पटेल, जयसिंह अग्रवाल एवं अनिला भेड़िया आदि शामिल रहे।