Jain
ब्रेकिंग
प्लॉट खरीदते समय इन बातों का रखें ध्यान, बढ़ेगी सकारात्मक ऊर्जा और होगा भरपूर लाभ कर्ज से मुक्ति के लिए आजमाएं वास्तु शास्त्र से जुड़े उपाय भगवान कृष्ण से सम्बंधित 13 खास मंदिर 14 घंटे रेस्क्यू चलने के बावजूद 17 लोगों को नहीं खोज सके; घाटों पर गोताखोर तैनात जहां सीएम मनाएंगे अमृत महोत्सव, वहां कलेक्टर-आईजी ट्रैक्टर से पहुंचे भाद्रपद माह में जन्माष्टमी और गणेश उत्सव जैसे कई बड़े त्योहार घर में इस जगह पर रखें फेंगशुई ड्रैगन, सकारात्मक ऊर्जा का होगा संचार और बरसेगा धन इन लॉकेट को पहनने के जानें फायदे और नुकसान, धारण करने के जानें नियम सुबह से खिली है तेज धूप; जुड़ने लगे हैं गंगा के घाट अंबाला कैंट के PWD रेस्ट हाउस में सुनेंगे शिकायतें

भोपाल स्टेशन पर होने लगी पहले जैसी भीड़, न यात्री मास्‍क लगा रहे, न वेंडर

भोपाल। रेलवे स्टेशन और ट्रेनों में सामान्य दिनों की तरह भीड़ बढ़ने लगी है। मुंबई और दिल्ली की तरफ से भोपाल आने वालीं ट्रेनों में यात्री मास्क का उपयोग नहीं कर रहे हैं। भोपाल रेलवे स्‍टेशन पर गुरुवार दोपहर दो बजे से लेकर शाम 4:30 बजे तक गुजरने वाली ट्रेनों में गिने-चुने यात्रियों को छोड़ ज्यादातर बिना मास्क के थे। प्लेटफार्म भी खचाखच भरे थे। भीड़ के कारण सुरक्षित शारीरिक दूरी की धज्जियां उड़ रही थीं। 1000 से 1500 यात्रियों के संपर्क में आने वाले भोपाल स्टेशन के 20 से ज्यादा वेंडर बिना मास्क और दस्ताने पहने लोगों को चाय, समोसा, आलू बड़ा, बड़ा पाव और खाना बेच रहे थे।

मुंबई से गोरखपुर जाने वाली कुशीनगर फुल
दोपहर 2:15 बजे मुंबई से होकर गोरखपुर जाने वाली कुशीनगर एक्सप्रेस प्लेटफार्म नंबर दो पर आकर खड़ी हुई। स्टेशन पर पहले से भीड़ थी ट्रेन आई तो दबाव और बढ़ गया। स्लीपर कोच में सामान्य दिनों की तरह यात्री बैठे हुए थे। गिने-चुने को छोड़कर किसी के मुंह पर मास्क नहीं था। बता दें कि मुंबई समेत पूरे महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण अभी भी बना हुआ है। अब तो खतरनाक डेल्टा प्लस वेरिएंट भी मिलने लगा है।
दिल्ली से आने वाली ट्रेनों में तो बच्चे भी सुरक्षित नहीं
दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन से मदुरै जाने वाली स्पेशल ट्रेन दोपहर 3:35 बजे भोपाल स्‍टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर पहुंची। ट्रेन में जबरदस्त भीड़ थी। स्लीपर कोच में तो कई बच्चे सफर कर रहे थे, जिनके मुंह पर अभिभावकों ने मास्क नहीं लगाया था। वयस्क यात्री भी बिना मास्क लगाए घूम रहे थे।
सावधान… वेंडर नाश्ता और खाना के साथ बांट सकते हैं कोरोना
सावधान रहिए, क्योंकि भोपाल स्टेशन पर वेंडर चाय नाश्ता और खाना के साथ कोरोना भी बांट सकते हैं। ऐसा इसलिए कहना पड़ रहा है क्योंकि यात्रियों को ट्रेनों में ले जाकर चाय, नाश्ता, खाना देने वाले भोपाल स्टेशन के वेंडर मास्क का उपयोग नहीं कर रहे हैं। एक वेंडर एक दिन में औसतन 500 से 1500 यात्रियों के संपर्क में सीधे आ रहा है। ऐसे 20 से अधिक वेंडर है। इन्हें स्टेशनों पर लगे सीसीटीवी कैमरों में आसानी से देखा जा सकता है।

ट्रेनों में ढिलाई, बाहर महिलाकर्मी यात्रियों से वसूल रही 10-10 रुपए
कोरोना नियंत्रण के नाम पर सब कुछ गजब हो रहा है। ट्रेनों में बिना मास्क के सफर करने वाले यात्रियों पर सख्ती नहीं है। प्लेटफार्म पर थोड़ा ध्यान दिया जा रहा है वही भोपाल स्टेशन के प्लेटफॉर्म छह व प्लेटफॉर्म एक के मुख्य प्रवेश द्वार पर कुछ महिला कर्मी बैग सैनिटाइजर के नाम पर हजारों यात्रियों से रोज 10 -10 रुपए वसूल रही है। यह घटना भी सीसीटीवी कैमरों में दर्ज हो रही है। जबकि बैग सैनिटाइज कराना स्वैच्छिक है
यात्रियों से बार-बार कह रहे हैं कि मास्क का उपयोग कीजिए। हाल ही में 600 यात्रियों से मास्क नहीं पहनने पर जुर्माना भी वसूला गया है। समझाइश के साथ कार्रवाई तेज करेंगे। रेस्टोरेंट, स्टॉल संचालक फूड प्लाजा वालों को कहा है कि वे वेंडरों से कोरोना गाइडलाइन का पालन अनिवार्य रूप से करवाएं। इसमें कोताही बरतने वालों को कार्रवाई के दायरे में लिया जाएगा।
– विजय प्रकाश, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक, भोपाल रेल मंडल