Braz
ब्रेकिंग
ग्रीस में छुट्टियां मनाकर लौटे हार्दिक पांड्या फतेहाबाद में 2 शिकायतों के बाद सेंट्रल बैंक की जांच में खुलासा; हैड कैशियर पर FIR युवक की तलाश करने उतरे मछुआरे की मिली लाश 10 महीने बाद किसानों ने खोला मोर्चा, लखीमपुर बना ‘मिनी पंजाब’; केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी की मांग शहर में 10 घंटे रहेंगे शाह... सुरक्षा में तैनात रहेंगे 40 आईपीएस अफसर और 3000 जवान बिहार में मौसम विभाग का अलर्ट दवा के साथ न करें इन चीजों का सेवन सबरीमाला मंदिर का इतिहास भगवान श्रीकृष्ण की हर लीला भक्तों के मन को है लुभाती निजी क्षेत्र में देश का सबसे बड़ा 2600 बेड का है अस्पताल, 64 आपरेशन थियेटर, 81 गंभीर बीमारियों के स्पेशलिस्ट डॉक्टर करेंगे इलाज

अधिकारी-कर्मचारी सरकार की व्यवस्था की रीढ़: गृहमंत्री

रायपुर।  छत्तीसगढ़ प्रदेश राजपत्रित अधिकारी संघ के नए प्रांतीय कार्यालय भवन का गुरुवार को गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, स्कूल शिक्षा मंत्री डा. प्रेमसाय सिंह टेकाम और खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने उद्घाटन किया। कार्यक्रम में कोरोना संक्रमण से दिवंगत शासकीय अधिकारियों और कर्मचारियों को दो मिनट का मौन धारण कर उन्हें श्रद्धांजति अर्पित की गई।

गृहमंत्री ताम्रध्‍वज साहू ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि अधिकारी और कर्मचारी सरकार की व्यवस्था की रीढ़ होते हैं। जनहित में गुणवत्ता के साथ लगन और ईमानदारी से काम करना चाहिए। अधिकारी और कर्मचारी छत्तीसगढ़ के हित में काम कर प्रदेश को नई उंचाई तक पहुंचाए, जिससे राष्ट्रीय स्तर पर राज्य का नाम हो।

स्कूल शिक्षा मंत्री डा. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा कि राज्य की पौने तीन करोड़ जनता और प्रदेश के निरंतर विकास के लिए हम सबकों मिलकर काम करना है। इस मुहिम को तेजी से आगे बढ़ाना है। खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि लोगों की सेवा के लिए राजपत्रित अधिकारी संघ मजबूत संगठन के रूप में स्थापित हो। कार्यक्रम को भारतीय प्राशासनिक सेवा के अधिकारी नीलकंठ टेकाम, संघ के सरंक्षक सुभाष मिश्रा, अध्यक्ष व अधिकारी-कर्मचारी फेडरेशन के संयोजक कमल वर्मा ने भी संबोधित किया।

संघ ने सौंपा मांग पत्र

संघ के प्रदेश अध्यक्ष कमल वर्मा ने प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए सरकार द्वारा कर्मचारी हित में लिए गए निर्णय का स्वागत करते हुए आभार व्यक्त किया। उन्होंने प्रदेश के राजपत्रित अधिकारियों से संबंधित नौ सूत्रीय मांग पत्र भी मंत्रियों को सौंपा। इसमें सेट की स्थापना, अधिकारियों को रियायती दर पर जमीन, पांच प्रतिशत महंगाई भत्ता आदि शामिल है।

Braz