ब्रेकिंग
गर्मी के चलते वेस्टर्न रेलवे ने 12 एसी लोकल ट्रेनें शुरू की, जानें कहां से कहां तक हैं ये ट्रेन पुलिस की सराहनीय पहल, प्रतिभावान छात्राओं के घर-घर जाकर किया सम्मानित, बच्चों ने आईएएस, डाॅक्टर व सीए बनने की जताई ईच्छा MP में तालों में कैद भगवान! MLA आकाश विजयवर्गीय बोले- जल्द खुलेगा बोलिया सरकार छत्री का शिव मंदिर एलपीजी गैस सिलेंडर पर लेना चाहते हैं सब्सिडी, फॉलो करें यह आसान प्रोसेस सूरज की तपिश से बादलाें ने दिलाई राहत बोरिंग माफियाओं की मनमानी से इंदौर में गहराया जल संकट नहीं रोक लगा पा रहा नगर निगम, आज भी रोजाना हो रहे 20-25 अवैध बोरिंग चीनी विमान जानबूझकर नीचे लाकर क्रैश कराया गया था श्रीराम सेना का दावा- कर्नाटक में 500 अवैध चर्च ग्राम देवादा में जल सभा का आयोजन एक ही परिवार के 3 लोगों के मर्डर का खुलासा, परिजन ही निकले हत्यारे, ये बनी हत्या की वजह

दुकान की छत पर टावर लगाने का झांसा देकर कारोबारी से 3.10 लाख की ठगी

रायपुर।  रायपुर के एक कारोबारी को दुकान की छत पर एयरटेल कंपनी का टावर लगाने के एवज में लाखों रुपये किराया देने का लालच देकर ठग ने अलग-अलग किश्तों में 3.10 लाख रुपये ठग लिए। शिकायत पर डीडीनगर पुलिस ने धोखाधड़ी का अपराध कायम कर लिया है।

डीडीनगर थाना पुलिस के मुताबिक जैनम विहार कालोनी टिकरापारा निवासी विनोद कुमार अग्रवाल (49) की रायपुरा चौक पर विष्णु मोटर्स के नाम से दुकान है। 25 मई 2019 की दोपहर दो बजे से 11 जनवरी 2021 की शाम चार बजे के बीच अज्ञात ठग ने मोबाइल नंबर 7428846929 , 7428865620, 7303211795 से विनोद को काल किया।

कॉल करके दुकान की छत पर एयरटेल कपंनी का टावर लगाने के एवज में 6.60 लाख रुपये अग्रिम, 55 हजार रुपये मासिक किराया, हर साल दस फीसद किराये में बढ़ोतरी कर देने के साथ ही परिवार के एक सदस्य को नौकरी, जीवन भर के लिए हाईस्पीड इंटरनेट देने का लालच दिया।

ठग ने खुद को कंपनी का एक्जीक्यूटिव सुमित चौधरी बताकर कंपनी की शर्तों के मुताबिक बताए गए खाते में चार किश्तों में तीन लाख 10 हजार 895 रुपये बैंक खाते में जमा करा लिए। फिर किसी राहुल शर्मा ने काल कर और पैसे जमा करने को कहा तब विनोद को ठगे जाने का एहसास हुआ।

बता दें कि प्रदेश की राजधानी रायपुर में इस वक्‍त ठगों का गिरोह सक्रिय है। लगातार वारदात को अंजाम दे रहे हैं। ठगों का संगठित गिरोह अब तक पुलिस की पकड़ से बाहर है। ठगों के झांसे में लोग आ रहे हैं। जमा पूंजी ठगों को सौंप दी जा रही है। जागरूकता अभियान चलाने के बाद भी लोग नादानी कर रहे हैं।