ब्रेकिंग
जल जीवन मिशन में ग्रामीण परिवारों के घर जल पहुँचने का सिलसिला जारी मुख्यमंत्री चौहान ने स्व. माधवराव सिंधिया की पुण्य-तिथि पर नमन किया ओबीसी आरक्षण विसंगति के मुद्दे पर आंदोलन सीबीआई ने पेश किया पहला आरोपपत्र, पार्थ चटर्जी समेत 15 अन्य के नाम मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कार्यक्रम के लिए पंडरिया विधानसभा के ग्राम इन्दौरी के भेंट-मुलाकात स्थल पहुंचे दस्तक अभियान के तहत रोका जाएगा संक्रमण, घर-घर जाकर आशा बहुएं करेंगी जागरूक प्लास्टिक से बने सामान का व्यापार कैसे शुरू करें | How to Start Plastic Material Making Business in Hindi नगरीय प्रशासन मंत्री ने आरंग में नागरिकों से की भेंट मुलाकात पानीपत में इंपीरियम पाम ड्राइव आवासीय प्लॉट लॉन्च, ग्रीन जोन, मार्केट कॉम्प्लेक्स समेत अन्य सुविधाएं वर्ष 2005 में चोरी गई 11 लाख कैश से भरी तिजोरी ढूंढने के लिए पुलिस ने ली जामा तलाशी

दुकान की छत पर टावर लगाने का झांसा देकर कारोबारी से 3.10 लाख की ठगी

रायपुर।  रायपुर के एक कारोबारी को दुकान की छत पर एयरटेल कंपनी का टावर लगाने के एवज में लाखों रुपये किराया देने का लालच देकर ठग ने अलग-अलग किश्तों में 3.10 लाख रुपये ठग लिए। शिकायत पर डीडीनगर पुलिस ने धोखाधड़ी का अपराध कायम कर लिया है।

डीडीनगर थाना पुलिस के मुताबिक जैनम विहार कालोनी टिकरापारा निवासी विनोद कुमार अग्रवाल (49) की रायपुरा चौक पर विष्णु मोटर्स के नाम से दुकान है। 25 मई 2019 की दोपहर दो बजे से 11 जनवरी 2021 की शाम चार बजे के बीच अज्ञात ठग ने मोबाइल नंबर 7428846929 , 7428865620, 7303211795 से विनोद को काल किया।

कॉल करके दुकान की छत पर एयरटेल कपंनी का टावर लगाने के एवज में 6.60 लाख रुपये अग्रिम, 55 हजार रुपये मासिक किराया, हर साल दस फीसद किराये में बढ़ोतरी कर देने के साथ ही परिवार के एक सदस्य को नौकरी, जीवन भर के लिए हाईस्पीड इंटरनेट देने का लालच दिया।

ठग ने खुद को कंपनी का एक्जीक्यूटिव सुमित चौधरी बताकर कंपनी की शर्तों के मुताबिक बताए गए खाते में चार किश्तों में तीन लाख 10 हजार 895 रुपये बैंक खाते में जमा करा लिए। फिर किसी राहुल शर्मा ने काल कर और पैसे जमा करने को कहा तब विनोद को ठगे जाने का एहसास हुआ।

बता दें कि प्रदेश की राजधानी रायपुर में इस वक्‍त ठगों का गिरोह सक्रिय है। लगातार वारदात को अंजाम दे रहे हैं। ठगों का संगठित गिरोह अब तक पुलिस की पकड़ से बाहर है। ठगों के झांसे में लोग आ रहे हैं। जमा पूंजी ठगों को सौंप दी जा रही है। जागरूकता अभियान चलाने के बाद भी लोग नादानी कर रहे हैं।