ब्रेकिंग
संजय गांधी टाइगर रिजर्व में बढ़ रही बाघों की संख्या, सैलानियों में भी हो रहा इजाफा सफीदों रोड पर 4 लोगों ने किया हमला, कोर्ट के आदेश पर FIR 50 लोगों को ट्रॉली में बेठाकर सड़क पर दौड़ रहा ट्रैक्टर, मूकदर्शक बनी पुलिस नॉर्थ कोरिया ने जापान के ऊपर से दागी बैलिस्टिक मिसाइल विद्याधाम परिसर गूंज रहा मां पराम्बा के जयघोष एवं स्वाहाकार की मंगल ध्वनि से वीडियो वायरल : एयरपोर्ट पर करीना कपूर के साथ बदसलूकी.. इस देवी मंदिर में है 51 फीट ऊंचे दीप स्तंभ, जान जोखिम में डालकर इन्हें कैसे जलाते हैं मां वैष्णो के दरबार में पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह हर रूप में स्त्री का सम्मान करने से प्रसन्न होती हैं मां जगदंबा Navratri Durga Ashtami: दुर्गाष्टमी आज, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और कन्या पूजन महत्व

देश की सेना को फिर से करेंगे संगठित, तालिबान के खिलाफ हासिल करेंगे जीत- राष्ट्रपति अशरफ गनी

काबुल। राष्ट्रपति अशरफ गनी ने देश के नाम एक पहले से रिकार्ड किए गए मैसेज में वादा किया है कि देश में अब और खून खराबा नहीं होने देंगे। राष्ट्रपति ने जंग लड़ रहे सुरक्षाबलों का ‘शुक्रिया’ अदा किया। गनी ने कहा, ‘मौजूदा हालात में देश के राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा बलों को दोबारा संगठित करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है और इस उद्देश्य के लिए आवश्यक उपाय किए जा रहे हैं।’

खतरे में है अफगानिस्तान – गनी

अफगानिस्तान में जारी तालिबानी हिंसा और हमलों के बीच राष्ट्रपति अशरफ गनी ने देश की सुरक्षा बलों को प्राथमिकता देने की बात कही। देश के नागरिकों को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति गनी ने कहा कि देश अभी खतरे में है और मौजूदा हालात पर वे स्थानीय नेताओं व अंतरराष्ट्रीय सहयोगियों से बात कर रहे हैं। राष्ट्रपति गनी ने कहा, ‘वर्तमान हालात में अफगान के सिक्योरिटी व डिफेंस फोर्स (ANDSF) को फिर से संगठित करना हमारी पहली प्राथमिकता है।’  इससे पहले देश के उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने भी कहा था कि सरकार, अफगान राष्ट्रीय रक्षा और सुरक्षा बलों को पूरी तरह से समर्थन देकर तालिबान के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेगी।

बीते 20 सालों के फायदों को नहीं होने देंगे बेकार

राष्ट्रपति गनी ने कहा, ‘मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि आपका राष्ट्रपति होने के नाते मेरा फोकस अस्थिरता, हिंसा और विस्थापन को रोकने पर है। मैं लोगों की हत्याओं के लिए अफगान के नागरिकों पर थोपे गए युद्ध की इजाजत नहीं दूंगा। बीते 20 सालों में देश को हुए फायदे को व्यर्थ नहीं होने दूंगा।’ इस बीच तालिबान के आतंकियों ने ताखर प्रांत में अफगान सरकार के अंतिम गढ़ वारसाज जिले पर कब्जा कर लिया है और देश के उत्तरी क्षेत्र में अपनी स्थिति और मजबूत कर ली है। एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी। इससे पहले तालिबान ने दावा किया था कि उसने पिछले एक सप्ताह में एक दर्जन से अधिक प्रांतीय राजधानी पर कब्जा करने के बाद अफगानिस्तान में दो और राजधानियों पर कब्जा कर लिया है।