ब्रेकिंग
जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे 63 कैदी रिहा भारतीय वायुसेना में शामिल हुए हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर 'प्रचंड' छत्तीसगढ़: कुम्हारी हत्याकांड पर सियासी बवाल नशे का इंजेक्शन लगाकर गिरते-गिरते अपने मोटरसाइकिल तक पहुंचा युवक, सीधा खड़ा भी नहीं हो पाया पोहा बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें या पोहा मिल कैसे लगाये |Poha Making Business In Hindi कुम्हारी हत्याकांड पर सियासी बवाल युवती को पता चलने पर धमकाया, हिंदूवादी संगठन ने युवक की पिटाई की दुर्गोत्सवऔर दशहरा उत्सव मनाने ट्रैफिक पुलिस ने बनाया प्लान, शाम 5 बजे से रात दो बजे तक रूट रहेगा डायवर्ट महिलाओं ने की 18 किलोमीटर पैदल यात्रा, मां जालपा को ओढाई 72 मीटर लंबी चुनरी MP की सबसे लंबी मोहनिया सुरंग बनकर तैयार, जाने क्या है, खासियत

जबलपुर में धार्मिक आयोजन के दौरान युवक को उठा लाई पुलिस, कोतवाली थाने में मचा हंगामा

जबलपुर। कोतवाली थाने के समीप एक धार्मिक आयोजन के दौरान पुलिस द्वारा शहनाई बजाने से रोकने पर हंगामे की स्थिति निर्मित हो गई। इस दौरान पुलिस एक युवक को पकड़कर कोतवाली थाने ले गई। जिसके बाद धार्मिक आयोजन से जुड़े लोगों की भीड़ थाने में जुटने लगी। देखते ही देखते सैकड़ों लोग कोतवाली थाना परिसर में एकत्र हो गए और पुलिस की कार्रवाई के विरोध में नारेबाजी करने लगे।

हंगामे की सूचना मिलने पर पूर्व मंत्री लखन घनघोरिया, विधायक विनय सक्सेना समर्थकों के साथ पुलिस थाना पहुंचे। सुरक्षा के लिहाज से कई थानों का पुलिस बल कोतवाली बुला लिया गया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोपाल प्रसाद खांडेल और सीएसपी दीपक मिश्रा ने प्रदर्शनकारियों से बातचीत की। करीब दो घंटे चले हंगामे के बाद हालात सामान्य हुए और प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर किया गया।

जानकारी के मुताबिक कोतवाली थाने के समीप कुछ लोगों द्वारा धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किया गया था। कार्यक्रम में शामिल लोगों ने तमाम शहनाई वादकों को बुला लिया। कोतवाली शराब दुकान के समीप एक गली में हुए आयोजन के बाद तमाम लोग सर्राफा की तरफ बढ़े। जहां एक बर्तन की दुकान में भी धार्मिक आयोजन किया गया। इस दौरान सड़क पर शहनाई वादन किया जा रहा था। कुछ लोगों ने पुलिस को सूचना दी और सड़क पर शहनाई वादन कर धार्मिक आयोजन पर आपत्ति जताई। जिसके बाद कोतवाली थाना प्रभारी अनिल गुप्ता बल सहित मौके पर पहुंचे। थाना प्रभारी ने शहनाई बजाने पर आपत्ति जताई।

उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा सीमित संख्या में परिसर के भीतर धार्मिक आयोजन की अनुमति दी गई है। जिसे सड़क पर नहीं किया जा सकता है। थाना प्रभारी की समझाइश के बाद धार्मिक आयोजन में जुटे लोग पुलिस के हस्तक्षेप का विरोध करने लगे। पुलिस ने हंगामा कर रहे एक व्यक्ति को पकड़ लिया और उसे कोतवाली थाना ले जाया गया। इस घटना के बाद कुछ ही देर में कोतवाली थाने में एक समुदाय के लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। भीड़ के समर्थन में पूर्व मंत्री वह विधायक घनघोरिया तथा विधायक सक्सेना पहुंचे और पुलिस अधिकारियों से बातचीत की।