ब्रेकिंग
दुर्गोत्सवऔर दशहरा उत्सव मनाने ट्रैफिक पुलिस ने बनाया प्लान, शाम 5 बजे से रात दो बजे तक रूट रहेगा डायवर्ट महिलाओं ने की 18 किलोमीटर पैदल यात्रा, मां जालपा को ओढाई 72 मीटर लंबी चुनरी MP की सबसे लंबी मोहनिया सुरंग बनकर तैयार, जाने क्या है, खासियत होटल में सेंटरिंग टूटने से हादसा, पिता-पुत्र की मौत, एक घायल Old Coin sell आप भी पुराने स‍िक्‍के और नोट बेच कर रातों रात बन सकते हैं करोड पति आपसी विवाद में 30 मिनट तक चले फावड़े, खूनी संघर्ष में दोनों की मौत 1.64 लाख चोरी; गड़बड़ी पकड़े जाने से पहले ही रफू चक्कर हो गया बड़ी संख्या में भक्तों ने किया मनमोहक गरबा कंप्यूटर और लैपटॉप रिपेयरिंग व्यवसाय कैसे शुरू करें | How to Start Computer and Laptop Repairing Business in Hindi बालोद की MLA संगीता सिन्हा ने जमकर खेला गरबा, खुद के बीच जनप्रतिनिधि को पाकर खुश हुई जनता

अफगान छात्रों की एडमिशन पोस्टपोन करने को तैयार IIT बॉम्बे, पढ़ें पूरी डिटेल

तालिबान ने पूरे अफगानिस्तान पर कब्जा कर हाहाकार मचा दी है। अफगानिस्तान के हालातों को देखते हुए IIT बॉम्बे ने अफगान छात्रों के लिए एडमिशन को टालने का निर्णय लिया है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) बॉम्बे इस वर्ष अफगान छात्रों के लिए एडमिशन के एक साल तक टालने को तैयार है। IIT बॉम्बे ने अपने बयान में कहा कि, अफगानिस्तान में बड़ी तेजी के साथ स्थिति बदली है। छात्रों ने बताया कि उनके देश में सत्ता बदल गई है और उनके पास इंटरनेट की पहुंच नहीं है। ये छात्र अपने राष्ट्र के निर्माण में मदद कर सकते हैं, इसलिए महत्वपूर्ण है। ऐसे में IIT बॉम्बे ने इन छात्रों के प्रवेश को एक साल के लिए स्थगित करने का निर्णय लिया है।

अब ये छात्र एख साल बाद कॉलेज में शामिल हो सकेंगे। संस्थान के मुताबिक, इन छात्रों को इस वर्ष भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (आईसीसीआर) की छात्रवृत्ति के तहत एम-टेक कार्यक्रम में नामांकित किया गया था। इनमें से कुछ छात्र इलेक्ट्रिकल और कुछ मैकेनिकल स्ट्रीम में थे। ये सभी छात्र ICCR प्रायोजित छात्र थे, जोकि  ICCR मुंबई कार्यालय छात्रों को वीजा जारी करने के लिए काबुल में भारतीय दूतावास के साथ मिलकर काम कर रहा था। इस प्रोग्राम के दो छात्र पहले से ही भारत में ही हैं।

तालिबान द्धारा अफगानिस्तान पर नियंत्रण होने के बाद कई चीजें बदल सकती हैं। वहां के वाणिज्य दूतावास बंद हो सकते हैं। ऐसे में छात्रों की ओर से उनके प्रवेश में देरी को लेकर अनुरोध मिले। इस पर संस्थान ने कहा कि हम उनके अनुरोध पर सहमत हुए हैं, ये अफगान छात्र अपने देश के विकास में महत्वपूर्ण नेतृत्व की भूमिका निभाएंगे। एक अधिकारी ने कहा कि एडमिशन टालने के लिए उन्हें शिक्षा मंत्रालय से अनुमति की आवश्यकता हो सकती है और इसके अलावा इन छात्रों को वीजा की सुविधा के लिए विदेश मंत्रालय को भी सूचित करना होगा।