ब्रेकिंग
संजय गांधी टाइगर रिजर्व में बढ़ रही बाघों की संख्या, सैलानियों में भी हो रहा इजाफा सफीदों रोड पर 4 लोगों ने किया हमला, कोर्ट के आदेश पर FIR 50 लोगों को ट्रॉली में बेठाकर सड़क पर दौड़ रहा ट्रैक्टर, मूकदर्शक बनी पुलिस नॉर्थ कोरिया ने जापान के ऊपर से दागी बैलिस्टिक मिसाइल विद्याधाम परिसर गूंज रहा मां पराम्बा के जयघोष एवं स्वाहाकार की मंगल ध्वनि से वीडियो वायरल : एयरपोर्ट पर करीना कपूर के साथ बदसलूकी.. इस देवी मंदिर में है 51 फीट ऊंचे दीप स्तंभ, जान जोखिम में डालकर इन्हें कैसे जलाते हैं मां वैष्णो के दरबार में पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह हर रूप में स्त्री का सम्मान करने से प्रसन्न होती हैं मां जगदंबा Navratri Durga Ashtami: दुर्गाष्टमी आज, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और कन्या पूजन महत्व

भाजपा मुख्यालय पर पहुंचकर चयनित शिक्षकों ने दिया धरना

भोपाल। मध्यप्रदेश में बीते तीन साल से अपनी नियुक्ति का इंतजार कर रहे शिक्षक पात्रता परीक्षा में चयनित हुए अभ्‍यर्थी बुधवार को अलग-अलग स्थानों से एकित्रत होकर भोपाल में सात नंबर बस स्‍टॉप स्‍थित भाजपा कार्यालय पहुंचे और धरना प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री से इस संदर्भ में ठोस आश्‍वासन मिलने के बाद ही धरना से हटने की बात कही है। वहीं महिला शिक्षकों का कहना है कि मुख्यमंत्री को राखी बांधकर उपहार में नियुक्ति पत्र मांगेंगे।

दरअसल, शिक्षक पात्रता परीक्षा में चयनित अभ्‍यर्थियों की दस्‍तावेज सत्‍यापन के बावजूद नियुक्ति अब तक नहीं हो पाई है। इस संदर्भ में चयनित शिक्षक मनोज रजौरिया ने बताया कि अब तक 15 से ज्यादा बार प्रदर्शन किया जा चुका है, लेकिन हर बार हमें मंत्री और अधिकारियों के तरफ से जल्‍द नियुक्‍ति का आश्वासन मिलता है, लेकिन समय गुजरने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं होती। इस बार बिना नियुक्ति पत्र के यहां से नहीं जाएंगे।

बता दें कि शिक्षक वर्ग-1 के 19200 और शिक्षक वर्ग-2 11300 कुल 30 हजार से ज्यादा पदों को भरने के लिए वर्ष 2018 में नोटिफिकेशन जारी किया गया था। इसके बाद 2200 पद अलग से जोड़े गए थे। इन पदों के लिए पात्रता परीक्षा 2019 आयोजित की गई। इसके नतीजे आने के बाद कोरोना के चलते इनकी नियुक्‍ति प्रक्रिया बार-बार अटकती रही। कोरोना का प्रकोप कम होने के बाद चयनित अभ्‍यर्थियों के दस्‍तावेज सत्यापन की भी प्रक्रिया पूरी कर ली गई, लेकिन अब तक उन्‍हें नियुक्ति पत्र नहीं दिया गया है। इसको लेकर यह प्रदर्शन किया जा रहा है। वहीं प्रदर्शन में शामिल महिला शिक्षक साथ में राखी भी लेकर आई है। वे यह राखी मुख्यमंत्री को बांधकर ही वापस जाने की बात कही जा रही है। प्रदर्शनकारी मुख्यमंत्री से मिलने की मांग पर अड़े हैं।