ब्रेकिंग
मथुरा पुलिस के हाथ लगे संदिग्ध के फोटो, चोरों की तलाश में जुटी पुलिस इलेक्शन मोड में काग्रेस, इसलिए 'दागियों' पर अभी नो एक्शन डॉक्टरी-इंजीनियरिंग की पढ़ाई के साथ विद्यार्थियों को स्टार्टअप के लिए भी सहयोग की व्यवस्था – मुख्यमंत्री चौहान अलवर पुलिस ने जीरो FIR दर्ज कर रेवाड़ी भेजी; महिला पर संगीन आरोप AAP सुप्रीमो ने ट्वीट लिखा- गुजरात का सह प्रभारी बनने के बाद AAP सांसद केंद्र के टारगेट पर टिफ़िन सर्विस का बिज़नेस कैसे शुरू करें | How to Setup Tiffin Service centre in hindi छत्तीसगढ़ के स्टार्टअप ईको सिस्टम को देखने जल्द आयेगा ऑस्ट्रिया का दल एंबुलेंस में पकड़े गए 25 करोड़ के फर्जी नोट नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. डहरिया ने नगर पंचायत समोदा को प्रदान की एम्बुलेंस गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के करीबियों को मारने की बना रहे थे प्लानिंग, 4 पिस्टल रिकवर

दिल्ली-एनसीआर में बारिश से बदला मौसम का मिजाज, जानें- यूपी, बिहार व अन्य राज्यों का हाल

नई दिल्ली। दिल्ली एनसीआर व आसपास के कई जगहों पर तेज हवा और गरज के साथ हल्की बारिश हो रही है। दिल्ली-नोएडा के साथ गाजियाबाद के इंदिरापुरम में भी गरज के साथ हल्की बारिश की खबर है। पिछले कुछ दिनों से बढ़ रहे तापमान में गिरावट दर्ज की गई। इसके साथ ही लोगों को बढ़ती गर्मी से कुछ राहत भी मिली है। बता दें कि दिल्ली-एनसीआर में मौसम ने मंगलवार की शाम को अचानक करवट ले ली। आंधी के साथ बाद बारिश होने से लोगों को गर्मी से राहत मिली है। हालांकि, 12 मार्च को भी आंधी और बारिश की संभावना जताई गई है।

अचानक बदला दिल्ली का मौसम

राजधानी में मंगलवार को सुबह से ही तेज गर्मी थी। न्यूनतम तापमान के साथ अधिकतम तापमान भी अधिक होने से लोगों को परेशानी हो रही थी। लेकिन रात आठ बजते-बजते मौसम ने करवट बदलना शुरू कर दिया। बादलों के साथ बिजली कड़कने लगी। 15 से 20 मिनट तक हल्की आंधी भी चली। इस दौरान हवा की गति करीब 25 से 35 किलोमीटर प्रति घंटे की रही। धूल भरी आंधी से एक बार तो माहौल में धुंधलापन छा गया। दूर तक धूल की गर्त दिखाई दी। लेकिन इसके बाद कई जगहों पर बौछारें पड़ीं। पालम, द्वारका, पश्चिमी दिल्ली आदि में बौछारें पड़ीं। बारिश के साथ ठंडी हवा भी चलती रही, जिसकी वजह से मौसम काफी सुहावना हो गया।

इन राज्यों में 11 मार्च से 13 मार्च तक बारिश की संभावना

वहीं पहाड़ों पर एक बार फिर बर्फबारी (Snowfall) शुरू होने से मौसम बदल रहा है। उत्तराखंड और कश्मीर के ऊपरी इलाकों में बर्फबारी से मौसम का मिजाज खुशनुमा बना हुआ है। ताजा बर्फबारी से उत्तराखंड और कश्मीर के पहाड़ों की चोटियां बर्फ की सफेद चादर से फिर ढंक गई हैं। मौसम विभाग के मुताबिक देश के कई राज्यों में 11 मार्च से 13 मार्च तक बारिश की संभावना है। मौसम विभाग की ओर से कहा गया कि 11 से 13 मार्च 2021 तक उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड और ओडिशा में हल्की बारिश हो सकती है।

इस सप्ताह आएंगे तीन पश्चिमी विक्षोभ

वहीं स्काईमेट वेदर के अनुसार इस सप्ताह उत्तर भारत के पहाड़ों पर एक के बाद एक तीन पश्चिमी विक्षोभ आएंगे। इनमें से हर एक पश्चिमी विक्षोभ कम से कम दो दिन के लिए सक्रिय रहेंगे और उत्तर भारत के मौसम को प्रभावित करेंगे। बता दें कि एक सिस्टम के पूर्वी दिशा में आगे निकल जाने के पहले ही दूसरा सिस्टम आ धमकेगा और सक्रिय हो जाएगा। इस सप्ताह का पहला पश्चिमी विक्षोभ आज यानि 9 मार्च को आ जाएगा और 9 तथा 10 मार्च को मौसम को प्रभावित करेगा। दूसरा सिस्टम 11 और 12 मार्च को जबकि सप्ताह का आखिरी पश्चिमी विक्षोभ सप्ताह के अंत में आएगा

इस सप्ताह आने वाले सभी तीन पश्चिमी विक्षोभों में दूसरा सिस्टम सबसे अधिक प्रभावी होगा। यानि मौसम में सबसे अधिक हलचल 11 और 12 मार्च को रहेगा। पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से ही मैदानी इलाकों पर एक चक्रवाती सिस्टम विकसित होगा जिससे पहाड़ों के अलावा मैदानी राज्यों में भी बारिश देखने को मिलेंगी। इस दौरान राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और एनसीआर के भी कुछ क्षेत्रों में गरज-चमक के साथ कुछ स्थानों पर हल्की बारिश या ओलावृष्टि की संभावना है। यही नहीं इस दौरान मध्य प्रदेश के उत्तरी हिस्सों और पश्चिम उत्तर प्रदेश के भी कुछ भागों तक का मौसम बदल जाएगा और बारिश की गतिविधियां देखने को मिलेंगी। 11 को राजस्थान के भी कुछ हिस्से इसकी गिरफ्त में आएंगे और गर्जना के साथ वर्षा होगी।

11 से 17 मार्च तक इन राज्यों में हो सकती है बारिश

मार्च के दूसरे सप्ताह में जम्मू कश्मीर में बारिश की संभावना है। हालांकि, बारिश तेज नहीं बल्कि कम ही होगी। इस दौरान उत्तर पूर्वी राज्यों अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, त्रिपुरा और सिक्किम में बारिश हो सकती है। अगले दो हफ्तों के दौरान देश के किसी भी हिस्से में गर्म हवाएं नहीं चलेंगी। दूसरे सप्ताह में, उत्तर-पूर्व और पूर्व भारत के अधिकांश हिस्सों और पूर्वोत्तर राज्यों में अधिकतम तापमान 2-4 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहने की संभावना है और देश के बाकी हिस्सों में तापमान सामान्य से नीचे रहेगी।

राजस्‍थान में आज भी बारिश-ओले के आसार

पश्चिमी विक्षोभ के चलते राजस्‍थान के पूर्वी हिस्‍सों में सोमवार को मौसम में अचानक बदलाव हुआ। कई जिलों में तेज हवा के साथ बारिश आई। कहीं-कहीं ओले भी गिरे। इससे कटने के लिए तैयार गेहूं और सरसों की फसल को भारी नुकसान हुआ। मौसम विभाग का अनुमान है कि मंगलवार को भी बारिश और ओलावृष्टि होने की संभावना है।

बिहार-झारखंड में भी बारिश का अनुमान

बिहार में हवा का असर दिखा जिससे तापमान में थोड़ी गिरावट रही। पश्चिमी विक्षोभ के चलते कुछ हिस्‍सों में तेज हवाओं के साथ बारिश का अनुमान है मगर अधिकतर इलाकों में आसमान साफ रहने का अनुमान है। राजधानी पटना में मंगलवार को न्यूनतम तापमान 20 डिग्री और अधिकतम तापमान 34 डिग्री रहने के आसार है। पश्चिमी चंपारण, सिवान, गोपालगंज, सीतामढ़ी, गया, मुजफ्फरपुर मधेपुरा, पूर्णिया, कटिहार समेत सभी प्रमुख जिलों में अधिकतम तापमान 32 से 34 डिग्री के आस-पास रहने का अनुमान जताया गया है। झारखंड में भी मौसम सामान्य बना हुआ है।

जानें- मौसम विभाग ने क्या कहा ?

मौसम विभाग ने मंगलवार को एक ट्वीट में जानकारी दी कि 8 से 11 मार्च के बीच पूर्वोत्‍तर भारत के कई हिस्‍सों, खासकर अरुणाचल प्रदेश में बारिश देखने को मिलेगी। असम, मेघालय, नगालैंड, मिजोरम और त्रिपुरा में कई जगहों पर वर्षा का अनुमान है। इसके अलावा मंगलवार को हरियाणा के हिसार, लोहारु, झज्‍जर में भी बारिश होगी ऐसा कहा गया है। पश्चिमी, उत्‍तरी और दक्षिण-पश्चिमी दिल्‍ली में भी हल्‍की बारिश का अनुमान है।