ब्रेकिंग
छत्तीसगढ़: कुम्हारी हत्याकांड पर सियासी बवाल नशे का इंजेक्शन लगाकर गिरते-गिरते अपने मोटरसाइकिल तक पहुंचा युवक, सीधा खड़ा भी नहीं हो पाया पोहा बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें या पोहा मिल कैसे लगाये |Poha Making Business In Hindi कुम्हारी हत्याकांड पर सियासी बवाल युवती को पता चलने पर धमकाया, हिंदूवादी संगठन ने युवक की पिटाई की दुर्गोत्सवऔर दशहरा उत्सव मनाने ट्रैफिक पुलिस ने बनाया प्लान, शाम 5 बजे से रात दो बजे तक रूट रहेगा डायवर्ट महिलाओं ने की 18 किलोमीटर पैदल यात्रा, मां जालपा को ओढाई 72 मीटर लंबी चुनरी MP की सबसे लंबी मोहनिया सुरंग बनकर तैयार, जाने क्या है, खासियत होटल में सेंटरिंग टूटने से हादसा, पिता-पुत्र की मौत, एक घायल Old Coin sell आप भी पुराने स‍िक्‍के और नोट बेच कर रातों रात बन सकते हैं करोड पति

बिलासपुर स्टेशन में गर्डर बनाने का काम शुरू, जल्द जुड़ जाएगा ब्रिज

बिलासपुर। जोनल स्टेशन में निर्माणाधीन फुट ओवरब्रिज का काम जल्द पूरा हो जाएगा। लाइन नंबर एक, दो व तीन के ऊपरी हिस्से को जोड़ने के लिए गर्डर बनाने का काम प्रारंभ हो गया है। इसके बनते ही गर्डर लाचिंग होगी। इसके बाद यह ब्रिज एक से दूसरे छोर तक जुड़ जाएगा। इसके बाद केवल पैदल चलने वाले स्थान पर स्लीपर लगाने का काम बाकी रह जाएगा। यह ब्रिज यात्रियों के लिए बड़ी सुविधा है। पहले भी यहां ब्रिज हुआ करता था। लेकिन पुराने होने के साथ जर्जर होने के कारण हमेशा खतरा रहता था। इसी बीच एक मालगाड़ी के वैगन के दरवाजे से ब्रिज क्षतिग्रस्त हो गया। लिहाजा सुरक्षा के मद्देनजर ब्रिज को ही ढहा दिया गया। इसके साथ नए ब्रिज बनाने की योजना तैयार की।

यह पुराने स्थान की जगह थोड़ा आगे बन रहा है। इसके अलावा इसका निर्माण गजरा चौक से आरएमएस तक किया जा रहा है। जिससे की अधिक से अधिक यात्री व स्टेशन उस पार रहने वाले लोगों को सुविधा मिल सके। निर्माण शुरू हो गया है। गर्डर लाचिंग का काम भी लगभग पूरा हो गया है।

पिछले दिनों दो गर्डर चढ़ाने के बाद पूरे ब्रिज में केवल लाइन क्रमांक एक, दो और तीन के ऊपरी हिस्से में गर्डर चढ़ाने का काम ही बाकी है। ठेकेदार ने इस हिस्से के लिए गर्डन नहीं बनाया था। इसलिए विलंब हुआ। पर अब यह भी बनने लगा है। उम्मीद है कि 10 से 15 दिनों के भीतर गर्डर बनकर तैयार हो जाएगा। इसके बनते ही ब्लाक लिया जाएगा और गर्डर लाचिंग की जाएगी। यही सबसे प्रमुख काम है।

इसके बाद केवल लोगों की आवाजही के लिए स्लीपर लगाने और दोनों हिस्से में सुरक्षा के लिहाज से लोहे का घेरा और शेड लगाने का काम बच जाएगा। हालांकि इसमें ज्यादा समय नहीं लगेगा। इस लिहाज से माना जा रहा है कि सितंबर में ही नए फुट ओवरब्रिज की सौगात मिल जाएगी।