सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली हाईकमान ने छत्तीसगढ़ प्रदेश प्रभारी की उपस्थिति में यह बात कही की ढाई साल के वादे का सम्मान करना चाहिए

भाटापारा। इधर सीएम के दिल्ली बुलावे से सूबे में सियासी खलबली।21 विधायक दिल्ली रवाना हो चुके हैं। टीएस सिंहदेव पहले ही 2 दिन से दिल्ली में बैठे हुए हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली हाईकमान ने छत्तीसगढ़ प्रदेश प्रभारी की उपस्थिति में यह बात कही की ढाई साल के वादे का सम्मान करना चाहिए चाहिए।

मुख्यमंत्री बनने की इच्छा पर दोनों नेता “हाई कमांड तय करता है कि पार्टी में किसको क्या काम करना है। कोई व्यक्ति किसी टीम में खेलते है, तो क्या कप्तान बनने की बात दिमाग में नहीं आती, हर आदमी के मन में ये बात आती है ,कहते है।

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री सीएम भूपेश बघेल एक बार फिर दिल्ली दौरे पर रवाना होंगे। वहां उनकी मुलाकात पार्टी के आला नेताओं से होगी। सीएम भूपेश बघेल शुक्रवार को सुबह की फ्लाइट से दिल्ली जाएंगे। जहां उनकी मुलाकात प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया समेत कई वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं से होने के कयास लगाए जा रहे है।

खबर ये भी है कि सीएम भूपेश की मुलाकात पार्टी आलाकमान सोनिया गांधी से भी हो सकती है। सीएम भूपेश के साथ प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष मोहन मरकाम का भी दिल्ली दौरा संभावित माना जा रहा है। जिसके बाद से ढाई ढाई साल वाले फार्मूले की चर्चा ने ज़ोर पकड़ लिया है।

इधर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का एक बार फिर दिल्ली दौरा तय होते ही राजधानी रायपुर के सर्किट हाउस में कांग्रेस के तकरीबन दर्जन भर विधायकों का जमावड़ा देखा गया है। पार्टी सूत्र बताते हैं कि सर्किट हाउस में लगभग दर्जनभर विधायकों की एक बैठक हुई है।

इस बैठक में किन मुद्दों पर चर्चा हुई फिलहाल यह स्पष्ट नहीं है, लेकिन कयास लगाए जा रहे हैं कि यह विधायक भी सीएम भूपेश बघेल के साथ कल दिल्ली रवाना हो सकते है।