ब्रेकिंग
Essay Help From Licensed Authors Come affrontare Nervosismo estremo मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज गांधी जयंती के अवसर पर छत्तीसगढ़ शासन की महत्वकांक्षी योजना 'महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना' के शुभारंभ महिला श्रमिक की मौत पर की खबर के बाद जागे परिवहन विभाग और ट्रैफिक पुलिस, नामली थाना क्षेत्र में की कार्रवाई AIIMS : ड्यूटी के दौरान मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर बैन अब तक 7 के शव बरामद, आईएएफ ने 2 चीता हेलीकॉप्टर किए तैनात, 8 लोगों का सफल रेस्क्यू क्या Pavitra Punia- Ejaz Khan ने  कर ली सगाई? दशहरे के दिन ही खुलता है रावण के इस मंदिर का द्वार खुद स्टार्ट किया पम्पिंग सेट, कहा- पशुओं में दूध की होती है वृद्धि हटाए गए कर्मियों को नौकरी देने की मांग, 19-20 को करेंगे भूख हड़ताल

आर्थिक तंगी से जूझ रहे सिविल इंजीनियर ने बेटे-बेटी का गला काट पत्नी समेत पिया जहर, 2 की मौत

भोपाल: राजधानी भोपाल में शनिवार सुबह एक सनसनीखेज मामला सामने आया है जहां पर आर्थिक तंगी और बेरोजगारी से जूझ रहे एक परिवार के 4 लोगों ने खुदकुशी का प्रयास किया जिसमें से 2 लोगों की मौत हो चुकी है वही 2 लोग गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती किए गए हैं। भोपाल के मिसरोद थाना क्षेत्र में रहने वाले एक सिविल इंजीनियर ने पत्नी के साथ जहर पी लिया इसके साथ ही बेटे और बेटी का टाइल्स कटर से गला काट दिया।

घटना में इंजीनियर और बेटे की मौत हो गई है । वहीं बेटी और पत्नी को हमीदिया अस्पताल रैफर किया गया है। पुलिस के अनुसार रवि ठाकरे पुत्र लक्ष्मण राव ठाकरे (55साल) परिवार के साथ सहारा एस्टेट में रहते थे। परिवार में पत्नी रंजना ठाकरे(50 साल), 16 साल का बेटा चिराग ठाकरे और 14 साल की बेटी गुंजन ठाकरे है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रवि ठाकरे और उनकी पत्नी रंजना ने जहर खाकर खुदकुशी का प्रयास किया तो वहीं बेटी और बेटे का टाइल्स काटने के कटर से गला काटा गया है। घटना में रवि ठाकरे और चिराग ठाकरे की मौत हो चुकी है वहीं रंजना ठाकरे और गुंजन ठाकरे का अस्पताल में इलाज जारी है ।

जैसे ही घटना की जानकारी आसपड़ोस में रहने वाले लोगों को लगी उन्होंने मिसरोद थाना पुलिस को इसकी सूचना दी। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी, एडिशनल एसपी सहित थाना पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। मिसरोद थाना प्रभारी निरंजन शर्मा ने बताया कि मृतक सिविल इंजीनियर की पत्नी रंजना ने बताया कि वह लोग आर्थिक तंगी से गुजर रहे थे। वहीं मृतक के पड़ोसियों ने भी बताया कि वह लोग आर्थिक तंगी से परेशान थे और डिप्रेशन में थे जिसके चलते यह कदम उठाया। भोपाल साउथ एसपी साईं कृष्णा ने बताया कि परिवार आर्थिक तंगी से गुज़र रहा था नौकरी नहीं थी, पैसे नहीं थे बच्चों के स्कूल के पैसे भरने के नहीं थे। उनके ऊपर लोन था जिसको भर नहीं पा रहे थे।