ब्रेकिंग
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज गांधी जयंती के अवसर पर छत्तीसगढ़ शासन की महत्वकांक्षी योजना 'महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना' के शुभारंभ महिला श्रमिक की मौत पर की खबर के बाद जागे परिवहन विभाग और ट्रैफिक पुलिस, नामली थाना क्षेत्र में की कार्रवाई AIIMS : ड्यूटी के दौरान मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर बैन अब तक 7 के शव बरामद, आईएएफ ने 2 चीता हेलीकॉप्टर किए तैनात, 8 लोगों का सफल रेस्क्यू क्या Pavitra Punia- Ejaz Khan ने  कर ली सगाई? दशहरे के दिन ही खुलता है रावण के इस मंदिर का द्वार खुद स्टार्ट किया पम्पिंग सेट, कहा- पशुओं में दूध की होती है वृद्धि हटाए गए कर्मियों को नौकरी देने की मांग, 19-20 को करेंगे भूख हड़ताल रेलवे स्टेशन पर रेलकर्मी को बदमाशों ने पीट-पीट कर किया घायल, की लूटपाट मिनी सचिवालय तक निकाला रोष मार्च, डीसी को केंद्र सरकार के लिए सौंपा ज्ञापन

ईंट से ईंट बजा देंगे बयान पर विजयवर्गीय बोले- कांग्रेस के संस्कार उसे ले डूबेंगे, ममता पर कही ये बात

मन्दसौर: चंबल नदी को गंगा नदी का दर्जा दिलाने के लिए मंदसौर जिले में चुनरी यात्रा का आयोजन किया गया। जिसमें भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और रामायण में राम का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल भी शामिल हुए। इस दौरान एक भव्य सभा का आयोजन भी किया गया था। जिसमें हजारों लोगों ने सहभागिता की। इस दौरान उन्होंने राज्य में चल रहे घटनाक्रम व पंजाब व बंगाल की राजनीति पर मीडिया के सवालों के जबाव देते हुए जमकर निशाना साधा। वहीं नवजोत सिद्दू के ईंट से ईट बजा देंगे बयान पर घेरते हुए कहा कि कांग्रेस के संस्कार उन्हें ले डूबेंगे।

पंजाब में नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा ईंट से ईंट बजा देने वाले बयान पर कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि यह कांग्रेस का आंतरिक मामला है और कांग्रेस के संस्कार भी यही है कि वहां ईट से ईट बजाने की बात की जाती है। इसीलिए आज वह कांग्रेस जिसने लगातार सदियों तक इस देश में राज किया। वह कांग्रेस छोटी होती जा रही है। उनके नेतृत्व के ऊपर जनता को विश्वास नहीं है और जहां उनकी सरकार है। वहां पर अस्थिरता है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में भागदौड़ हो रही है। पंजाब में भागदौड़ हो रही है। कुल मिलाकर कांग्रेस के पास अभी जो नेतृत्व है। उस पर ना तो कार्यकर्ताओं को विश्वास है और ना ही जनता का विश्वास है।

बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा की जांच के लिए गठित हुई सीबीआई द्वारा 6 मामले दर्ज करने पर न्यायपालिका को धन्यवाद दिया और कहा कि बंगाल एक ऐसा प्रदेश है। जहां पर भारत के संविधान के अनुसार सरकार नहीं चलती। वहां एक व्यक्ति के शब्दों के आधार पर सरकार चलती है। उन्होंने कहा कि यह मेरा कमेंट नहीं है बल्कि यह माननीय हाईकोर्ट का कमेंट है और उच्च न्यायालय ने ही पूरे घटनाक्रम जो चुनाव के बाद वहां पर हिंसा हुई है। उसमें सीबीआई को निर्देश दिए कि वे कोर्ट के मार्गदर्शन में इसकी जांच करें मुझे उम्मीद है इससे प्रजातंत्र स्थापित होगा। प्रदेश में लगातार बढ़ रही मार-पिटाई की घटना पर कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि मैं समझता हूं। सरकार अच्छा काम कर रही है। जो दोषी थे। उनके खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं और ऐसी घटना कोई सी भी नहीं है । जहां पर कार्रवाई नहीं की गई हो।

बीते दिनों उज्जैन में देश विरोधी नारेबाजी होने पर कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि उज्जैन नहीं देश में कहीं पर भी देश विरोधी नारे लगेंगे तो उन्हें कुचल दिया जाएगा। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि सरकार और समाज से निवेदन करूंगा कि ऐसी प्रवृत्तियों को हमें बिल्कुल भी प्रोत्साहित नहीं करना है। क्योंकि यह देश जो स्वतंत्र हुआ है। यह बहुत सारे नौजवानों के बलिदान से हुआ है। बहुत सारे नौजवानों ने फांसी के फंदे को चूमा है। फिरंगियों की गोली को अपनी छाती पर झेला है। तब इस देश को स्वतंत्रता मिली है और ऐसे समय में स्वतंत्र देश के अंदर कोई हमारे दुश्मन के लिए जयकार के नारे लगाएगा। तो उसे कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे।

इसके साथ ही कैलाश विजयवर्गीय ने बीते दिनों कमलनाथ द्वारा दिए गए भाजपा का बिल्ला जेब में रखकर घूमने वाले बयान पर टिप्पणी की है। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि, वैसे तो मैं कमलनाथ जी पर कोई टिप्पणी नही करूंगा। लेकिन नौकरशाही- नौकरशाही होती है। जो सरकार होती है। वह उसके लिए काम करती है और नौकरशाही के ऊपर कोई भी सरकार बदलती है । तो वह आरोप लगाती है। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि कमलनाथ का आरोप सामान्य आरोप है। अगर उनके पास कोई ऐसा प्रूफ हो तो निश्चित रूप से वह न्यायपालिका में जाकर उस नौकरशाह के खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं।