ब्रेकिंग
साकेत कोर्ट ने शरजील इमाम को दी जमानत पोहा बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें या पोहा मिल कैसे लगाये |Poha Making Business In Hindi बुमराह की जगह मोहम्मद सिराज टीम इंडिया में शामिल एमपीपीईबी व एमपीपीएससी में 5 साल से नहीं हुई भर्ती, छात्रों ने निकाली रैली दीपावली के अगले दिन रहेगा सूर्य ग्रहण, करीब एक घंटे का रहेगा समय क्या फ्लॉप फिल्मों के बाद आयुष्मान खुराना ने घटाई फीस? जबलपुर आर्डनेंस फैक्ट्री में आग से झुलसे गंभीर नंद किशोर को एयर एंबुलेंस से मुंबई ले जाने की तैयारी ITBP के SI ने की आत्महत्या, दफ्तर में फंदे पर लटकी मिली लाश बस्तर संभाग में नौ नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण चायपत्ती के बैग बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें | How to Start Tea Bag Making Business Plan In Hindi

कोरोना के मामलों में उछाल, केरल में फिर 30 हजार से ज्‍यादा मामले

नई दिल्‍ली। देश में कोरोना कहर थमने का नाम नहीं ले रही है। पिछले 24 घंटे में देश में फिर कोरोना के मामलों में उछाल आया है। एक ओर देश के ज्‍यादातर राज्‍यों में कोरोना केस में कमी आई है, वहीं केरल अभी भी चिंता का कारण है। केरल में पिछले 24 घंटों में 32,097 नए कोरोना के मामले सामने आए हैं। केरल में 21,634 लोग ठीक ठीक होने और 188 लोगों की मौत हुई है। केरल में कोरोना से मरने वालों की संख्या 21,149 हो गई है। राज्‍य में कोरोना के सक्रिय मामले 2,40,186 हैं। केरल में पाजिटिविटी रेट 18.41 फीसद है। पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 1,74,307 नमूनों का परीक्षण किया गया।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कर्नाटक और तमिलनाडु के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रियों के साथ बैठक

केरल में बीते चार दिनों से 30 हजार से ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं। केंद्र सरकार ने केरल में कोरोना केस को देखते हुए केरल के पड़ोसी राज्य कर्नाटक और तमिलनाडु में कोरोना फैलने की आशंका बनी हुई है। इन राज्‍यों में पर्याप्त उपाय करने की जरूरत पर जोर देते हुए कर्नाटक और तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने समीक्षा बैठक की।

दिए गए ये निर्देश

केंद्र ने कर्नाटक और तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्रियों से कहा कि केरल के कारण इन राज्यों में केस न बढ़ें, इसलिए पर्याप्त कदम उठाने की जरूरत है। बता दें कि कर्नाटक और तमिलनाडु के वे जिले, जो केरल से सटे हैं, वहां पर खास कदम उठाने के लिए कहा गया है। इन जिलों में वैक्सीनेशन की रफ़्तार तेज करने की जरूरत है। साथ ही ये भी कहा गया कि टीकाकरण कोरोना से लड़ने के लिए पांच सूत्री (टेस्ट, ट्रैक, ट्रीट, और कोविड उपयुक्त व्यवहार सहित) रणनीति का एक महत्वपूर्ण घटक है।

एक प्रेस कांफ्रेंस में केंद्र सरकार की ओर से चेतावनी दी गई कि देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है। भले ही साप्ताहिक पाजिटिविटी दर में समग्र रूप से गिरावट दिख रही हो लेकिन हालात बहुत अच्छे नहीं हैं। देश के 39 जिलों ने 31 अगस्त को समाप्त सप्ताह में 10 फीसद से अधिक साप्ताहिक कोविड पाजिटिविटी दर दर्ज की। जबकि 38 जिलों में यह 5 से 10 फीसद के बीच थी। भारत की 16 फीसद वयस्क आबादी को कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज मिल गए हैं। वहीं 54 फीसद को कम से कम एक डोज मिल गई है।