ब्रेकिंग
Essay Help From Licensed Authors Come affrontare Nervosismo estremo मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज गांधी जयंती के अवसर पर छत्तीसगढ़ शासन की महत्वकांक्षी योजना 'महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना' के शुभारंभ महिला श्रमिक की मौत पर की खबर के बाद जागे परिवहन विभाग और ट्रैफिक पुलिस, नामली थाना क्षेत्र में की कार्रवाई AIIMS : ड्यूटी के दौरान मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर बैन अब तक 7 के शव बरामद, आईएएफ ने 2 चीता हेलीकॉप्टर किए तैनात, 8 लोगों का सफल रेस्क्यू क्या Pavitra Punia- Ejaz Khan ने  कर ली सगाई? दशहरे के दिन ही खुलता है रावण के इस मंदिर का द्वार खुद स्टार्ट किया पम्पिंग सेट, कहा- पशुओं में दूध की होती है वृद्धि हटाए गए कर्मियों को नौकरी देने की मांग, 19-20 को करेंगे भूख हड़ताल

दूसरे की जमीन का फर्जी दस्तावेज बनाकर बेचने वाले गिरफ्तार

रायपुर: राजधानी के खमतराई थाना अंतर्गत धोखाधड़ी का नया मामला प्रकाश में आया है। आरोपितों ने पाटीदार भवन के पास खाली पड़ी जमीन के मालिक का फर्जी आधार कार्ड और जमीन का दस्तावेज बनाकर एक करोड़ 54 लाख रुपये में बेचने के लिए सौदा कर दिया। राजेश गिदवानी ने आरोपित को 25 लाख रुपये बयाना दे दिया, लेकिन उन्होंने जब किसानों का आधार कार्ड चेक किया तो पता चला कि आधार कार्ड में तीनों किसानों की उम्र एक है।

इस पर उन्हें शक हुआ और खमतराई पुलिस में आरोपितों के खिलाफ अपराध दर्ज कराया। खमतराई पुलिस धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर मामले की जांच कर रही है। खमतराई पुलिस के मुताबिक बाबा गेलाराम नगर, देवपुरी निवासी राजेश गिदवानी की पाटीदार भवन गली के पीछे एसएसडी प्लाइवुड नामक फैक्ट्री है। फैक्ट्री के सामने 22,000 वर्ग फुट का खाली प्लाट है। उस प्लाट को बेचने के लिए आरोपित विजय सिसोदिया पिछले पांच-छह सालों से आकर उनसे संपर्क कर रहा था।

फरियादी राजेश गिदवानी ने जब जमीन के बारे में जानकारी ली तो उसने जमीन तीन अलग-अलग किसानों की होने की बात कही। उसके बाद फरवरी माह में आरोपित विजय सिसोदिया, राजीव दत्ता और राजकुमार साहू जमीन का कागजात लाकर फरियादी को दिखाया। आरोपितों द्वारा दिखाए गए कागजात में भूमि स्वामी का नाम झाडू राम, पुनऊ और कोंदा के दर्ज था।

कागजात देखकर राजेश जमीन लेने के लिए तैयार हो गए और 20 मार्च, 2021 को तीनों आरोपितों ने किसानों को लाकर जमीन का 700 रुपये वर्गफीट में विजय सिसोदिया व राजीव दत्ता द्वारा सौदा तय कर दिया। जमीन का इकरारनामा 50 रुपये के स्टाम्प पेपर पर राजेश के पिताजी नवलराय गिदवानी के नाम से कर दिया गया। इस दौरान राजेश ने बयाना के नाम पर नकद और चेक के माध्यम से 25 लाख रुपये दे दिया। खमतराई पुलिस ने इस मामले में आरोपित विजय सिंह, राजीव दत्ता, झाडू राम यादव को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी के आरोपितों की पुलिस तलाश कर रही है।