ब्रेकिंग
ना बैनर लगाऊंगा, ना पोस्टर लगाऊंगा, ना ही किसी को एक कप चाय पिलाऊंगा, उसके बाद भी अगले लोकसभा चुनाव में भारी मतों से चुन कर आऊंगा, यह मेरा अहंकार नहीं... नए जिला बनाने पर बड़ा बयान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के ऐसे बयान की किसी को नही थी उम्मीद छत्तीसगढ़ में लगातार पांचवे उपचुनाव में कांग्रेस जीती, भाटापारा मंडी में जमकर हुई आतिशबाजी, मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भानूप्रतापपुर की जीत मुख्य... Anti virus For Business Endpoints Choosing Board Webpage Providers 5 Reasons to Ask Someone to Write My Essay For Me 5 Reasons to Ask Someone to Write My Essay For Me Avast Password Off shoot For Stainless- Antivirus Review - How to Find the very best Antivirus Computer software आर्थिक आधार से गरीब लोगों के आरक्षण में कटौती के विरोध में आज भाटापारा अनुविभागीय अधिकारी के कार्यालय जाकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया

प्रचार के दौरान ममता चोटिल, हमले का लगाया आरोप, गरमाई सियासत, मेडिकल बुलेटिन का इंतजार, चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट

नई दिल्‍ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नंदीग्राम में प्रचार अभियान के दौरान घायल हो गई हैं। उनके पैर में चोट लगी है। उन्‍हें कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल लाया गया है। बताया जा रहा है कि उनके पैर में सूजन है। ममता बनर्जी ने इसको साजिश बताते हुए कहा है कि उन पर हमला हुआ है। इस बीच निर्वाचन आयोग ने इस घटना पर रिपोर्ट तलब कर ली है। वहीं भाजपा का कहना है कि ममता चुनाव में सहानुभूति बटोरने की कोशिश कर रही हैं। आइए जानें इस वाकए पर किसने क्‍या कहा…

मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार 

टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी ने कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल (SSKM Hospital) से बाहर निकलते समय बताया कि मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी की एमआरआई हो रही है। उन्‍हें गंभीर चोट आई है। उनको एक क्रेक का सामना करना पड़ा है। हम मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं।

पांच डाक्टरों की कमेटी गठित

देर शाम ही सड़क मार्ग से ग्रीन कारिडोर बनाकर ममता को नंदीग्राम से कोलकाता लाया गया। यहां सबसे बड़े सरकारी एसएसकेएम अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया गया। उनके इलाज के लिए पांच डाक्टरों की एक कमेटी भी गठित की गई है।

सुरक्षा में सेंध पर सवाल 

बड़ा सवाल यह कि जब ममता बनर्जी को जेड प्लस की सुरक्षा उपलब्ध है तो कैसे चार-पांच युवकों ने आकर उन्हें धक्का मार दिया। बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ममता को देखने देर रात अस्पताल पहुंचे। यहां राज्यपाल के खिलाफ तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने गो बैक के नारे लगाए। वहीं इस घटना के खिलाफ तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा के खिलाफ प्रदर्शन शुरू किए हैं।

सहानुभूति बटोरने की कोशिश : अधीर रंजन चौधरी

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chowdhury) ने कहा कि यह सियासी पाखंड सहानुभूति बटोरने की कोशिश है। नंदीग्राम में मुश्किलें बढ़ती देख उन्‍होंने (Mamata Banerjee) चुनाव से पहले इस ‘नौटंकी’ की योजना बनाई। ममता केवल राज्‍य की मुख्‍यमंत्री ही नहीं वह पुलिस मंत्री भी हैं। क्या आप मान सकते हैं कि पुलिस मंत्री के साथ कोई पुलिसकर्मी नहीं था।

सहानुभूति बटोरने के लिए ड्रामा : विजयवर्गीय 

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने इसे सियासी नाटक बताया है। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि चुनाव में हार को देखते हुए ममता बनर्जी सहानुभूति बटोरने के लिए यह ड्रामा कर रही हैं।