दो पक्षों में मारपीट, मोबाइल से वीडियो बनाना छात्र को पड़ा महंगा

बिलासपुर। कोतवाली क्षेत्र के गांधी चौक में दो युवकों में विवाद व मारपीट हो रही थी। इस दौरान प्रत्यक्षदर्शी छात्र ने पिटाई कर रहे युवकों का वीडियो बनाना शुरू कर दिया। इस पर युवकों ने उल्टा छात्र पर ही हमला कर दिया और उनके मोबाइल को तोड़ दिया। इस मामले की रिपोर्ट पर पुलिस ने अपराध दर्ज कर लिया है। धीरज पांडेय पिता पवन कुमार पांडेय पुराना हाई कोर्ट परिसर के पास रहते हैं। धीरज एम काम की पढ़ाई करने के बाद प्राइवेट जाब कर रहे थे। वर्तमान में वे बिजनेस प्लान कर रहे हैं। इसी सिलसिले में अपने दोस्त अंकित पवार के साथ किराए पर दुकान खोजने के लिए गांधी चौक तरफ जाने के लिए निकले थे।

उस समय गांधी चौक में आधा दर्जन युवकों की भीड़ जुटी थी, जो आपस में विवाद करते हुए मारपीट कर रह थे। युवकों को आपस में सरेराह मारपीट करते देखकर धीरज ने अपने मोबाइल से उनका वीडियो बनाना शुरू कर दिया। इस बीच मारपीट करने वाले युवकों ने उन्हें मोबाइल से वीडियो बनाते देख लिया। फिर वीडियो बनाने की बात को लेकर युवकों ने धीरज के साथ गाली-गलौज शुरू कर दी

उनके मना करने पर युवकों ने उनकी बेरहमी से पिटाई कर दी। इस दौरान हमलावर युवकों ने उनके मोबाइल को जमीन में पटक दिया, जिससे मोबाइल टूट गया। इस घटना के बाद आहत छात्र ने सिटी कोतवाली थाने में शिकायत दर्ज कराई। धीरज की रिपोर्ट पर पुलिस ने अज्ञात हमलावरों के खिलाफ धारा 294, 323, 506, 427, 34 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है

अज्ञात हमलावरों की नहीं हो पाई पहचान

इस घटना की रिपोर्ट दर्ज करने के बाद पुलिस अज्ञात हमलावरों की पतासाजी कर रही है। लेकिन, अब तक पुलिस की जांच में हमलावर युवकों की पहचान नहीं हो पाई है।