ब्रेकिंग
Discovering Academic Term Papers जन-जन को जोड़ें "महाकाल लोक" के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता केंद्र का भी किया शुभारंभ विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों 'झूठ दिआं पंडां कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप

गोबर से बनी है सिद्धि विनायक गणेश मंदिर की प्रतिमा, दर्शन मात्र से हो जाती है हर मनोकामना पूरी

खरगोन: देश मे प्रसिद्ध और ऐतिहासिक गोबर गणेश का मंदिर बहुत प्रसिद्ध है। इस मंदिर में सिद्धि विनायक गणेश जी की मूर्ति गाय के गोबर से बनी है। यहां श्रद्धालु लक्ष्मी और संतान की प्राप्ति के लिए पहुंचते हैं। मान्यता है कि  श्री गणेश हर एक की मनोकामनाएं पूरी करते हैं।  गोबर गणेश जी के दर्शन करने और आशीवार्द लेने के लिए श्रद्धालु दूर -दूर से पहुंचते हैं।

खरगोन जिले की पवित्र नगरी महेश्वर कई इतिहास को समेटे हुए। वही वर्षो पुराना गोबर गणेश जी का मंदिर स्थापित है। गोबर गणेश जी को प्रतिमा गाय के गोबर से अदभुत बनाई गई है । इस गणेश जी प्रतिमा के दर्शन मात्र से हर मनोकामना पूरी होती है। गणेश उत्सव पर होते धार्मिक आयोजन। बताया जाता है पंडितों के यहा अधिक मात्रा में गाय माता होती थी जब उस समय गाय के गोबर से पंडितों ने मंत्र उपचार कर श्री गणेश जी प्रतिमा स्थापित की गई थी तब से गोबर गणेश जी की कर पूजा अर्चना की जा रही है।

वही पुजारी ने बताया कि उस मे पंडितों के यहां गाये अधिक थी और उन गाय के गोबर से गणेश भगवान की प्रतिमा बनाई गई थी । मंदिर पर दो गुम्बज है क्योंकि उस समय मुगल साम्राज्य था और जब वह मुगल घोड़े पर बेट कर जाते थे इस लिए मंदिर पर दो गुम्बज बनाये गए है। इस मंदिर में हर मनोकामना पूरी होती है।