ब्रेकिंग
Discovering Academic Term Papers जन-जन को जोड़ें "महाकाल लोक" के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता केंद्र का भी किया शुभारंभ विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों 'झूठ दिआं पंडां कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप

दो दिवसीय दौरे पर रायबरेली पहुंचीं प्रियंका वाड्रा, मुलाकात के लिए कांग्रेस पदाधिकारियों की लगी लंबी कतार

रायबरेली। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व प्रदेश प्रभारी प्रियंका वाड्रा रविवार को यहां दो दिवसीय दौरे पर पहुंचीं। प्रियंका वाड्रा लखनऊ से रायबरेली पहुंचीं। उनके आगमन पर कार्यकर्ताओं में जबरदस्त उत्साह दिखा। वहीं संगठन के जिम्मेदारों में बेचैनी भी देखी जा रही है। कारण तमाम दावों के बावजूद यहां सब कुछ ठीक नहीं है। प्रियंका का यह दौरा विधानसभा चुनाव के मद्देनजर काफी अहम माना जा रहा। फिलहाल वे लंबे अंतराल के बाद दो दिन के कार्यक्रम के तहत पहुंचीं हैं।

सुबह दस बजे जिले की सीमा में दाखिल हाेते ही चुरुवा बार्डर से प्रियंका के स्वागत का सिलसिला शुरू हुआ। वह 11ः30 बजे भुएमऊ गेस्टहाउस पहुंचीं। कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने लखनऊ से रायबरेली के रास्ते जगह जगह अपने नेता का पूरे जोश के साथ स्वागत किया। प्रियंका के पहुंचने से पहले गेस्ट हाउस को सजा दिया गया था। वह यहां पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगी। साथ ही पार्टी से जुड़े पंचायत प्रतिनिधियों से भी वार्ता करेंगी। सोमवार को प्रियंका जनता से मुलाकात कर उनकी समस्याएं सुनेंगी। उनके आगमन से पहले सांसद सोनिया गांधी के प्रतिनिधि केएल शर्मा रायबरेली पहुंच चुके थे। उन्होंने ही कार्यक्रम की रूपरेखा तय की थी। साथ ही पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक भी की।

अब देखने वाली बात यह होगी कि प्रियंका की क्लास में कौन फेल होता है, कौन पास। कारण वह निचले स्तर तक के पदाधिकारियों से इस बार संवाद करेंगी। पार्टी सूत्रों का कहना है कि विधानसभा चुनाव के लिए संगठन की तैयारी परखने के साथ ही वे पिछले दिनों चलाए गए कार्यक्रमों व अभियान की समीक्षा भी करेंगी। इस कारण जिम्मेदारों में बेचैनी देखी जा रही है। पार्टी प्रवक्ता विनय द्विवेदी ने बताया कि राष्ट्रीय महासचिव के स्वागत की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। उन्होंने बताया कि पार्टी पदाधिकारियों की बैठक होगी जिसमें सभी प्रकोष्ठों व फ्रंटल संगठन के पदाधिकारी शामिल होंगे। बता दें कि विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी सरगर्मी अब तेज हो गई है।