ब्रेकिंग
मथुरा पुलिस के हाथ लगे संदिग्ध के फोटो, चोरों की तलाश में जुटी पुलिस इलेक्शन मोड में काग्रेस, इसलिए 'दागियों' पर अभी नो एक्शन डॉक्टरी-इंजीनियरिंग की पढ़ाई के साथ विद्यार्थियों को स्टार्टअप के लिए भी सहयोग की व्यवस्था – मुख्यमंत्री चौहान अलवर पुलिस ने जीरो FIR दर्ज कर रेवाड़ी भेजी; महिला पर संगीन आरोप AAP सुप्रीमो ने ट्वीट लिखा- गुजरात का सह प्रभारी बनने के बाद AAP सांसद केंद्र के टारगेट पर टिफ़िन सर्विस का बिज़नेस कैसे शुरू करें | How to Setup Tiffin Service centre in hindi छत्तीसगढ़ के स्टार्टअप ईको सिस्टम को देखने जल्द आयेगा ऑस्ट्रिया का दल एंबुलेंस में पकड़े गए 25 करोड़ के फर्जी नोट नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. डहरिया ने नगर पंचायत समोदा को प्रदान की एम्बुलेंस गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के करीबियों को मारने की बना रहे थे प्लानिंग, 4 पिस्टल रिकवर

230 किग्रा गांजा के साथ तीन तस्करों को पुलिस ने दबोचा

भोपाल। कोलार पुलिस को शनिवार देर रात गांजा की एक बड़ी खेप पकड़ने में कामयाबी हाथ लगी। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर एक पिकअप वाहन को रोका। जब उसकी तलाशी ली गई तो उसमें से 230 किग्रा गांजा बरामद हुई। ड्रग तस्‍कर इसे आंध्र प्रदेश से लेकर आ रहे थे और इसे भोपाल के आसपास खपाने की तैयारी थी। पुलिस ने मादक पदार्थ लेकर आ रहे तीन तस्‍करों को भी गिरफ्तार किया है। इनमें से दो सीहोर के और एक शुजालपुर का रहने वाला है।
कोलार पुलिस के अनुसान मुखबिर से सूचना मिली थी कि एक पिकअप वाहन एम-39जी 2859 में तीन व्यक्ति मंडीदीप तरफ से सेमरी जोड के रास्ते कोलार तरफ आने वाले हैं। उनके पास बडी मात्रा में मादक पदार्थ है। इस पर कोलार थाना प्रभारी चंद्रकात पटेल ने टीम गठित कर इलाके में घेराबंदी शुरू की। देर रात सेमरी रोड पर संदिग्‍ध वाहन आता दिखा। जब उसे रोककर तलाशी ली तो डाले मे ऊपर की तरफ केले के बंडल रखे थे। जिन्हे हटाने पर नीचे तरफ रखा 46 पैकेट में कुल 230 किलो ग्राम गांजा बरामद हुआ। इसके बाद पिकअप लेकर आ रहे तीनों व्‍यक्‍तियों को हिरासत में ले लिया गया। पूछताछ करने पर चालक सीट पर बैठे व्यक्ति ने अपना नाम दीपक विश्वकर्मा (24) ग्राम नौनीखेडी थाना श्यामपुर जिला सीहोर का निवासी होना बताया। चालक के बगल में बैठे व्यक्तियो ने अपना नाम जीवन सिंह राजपूत (23) निवासी कादराबाद थाना श्यामपुर सीहोर और सुनील शर्मा (40) निवासी विजय वाटिका के पास, कृष्णा नगर शुजालपुर का निवासी होना बताया। उन्‍होंने पूछताछ में यह भी बताया कि वे राजमंडी, आंध्र प्रदेश से गांजा भोपाल लाते थे। उसके बाद भोपाल में रखकर इसे आसपास बेचा करते थे। आरोपितों से पूछताछ कर उनके अन्‍य साथियों के बारे में भी पता लगाया जा रहा है1