सिलेंडर के दाम बढ़ने के बावजूद PMUY ग्राहकों के बीच LPG की खपत में 23.2 फीसद की वृद्धि

नई दिल्ली। हाल ही में एलपीजी की कीमतों में वृद्धि के बावजूद, प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) के बीच एलपीजी सिलेंडर की खपत में सुधार हुआ है। इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IOCL) ने यह जानकारी दी। आईओसीएल के अनुसार इस वित्तीय वर्ष की आरंभिक तिमाही में एलपीजी की खपत में 23.2 फीसद की वृद्धि दर्ज की गई थी।

IOCL ने बताया कि पूरे एलपीजी खपत में सुधार तीन महीने की अवधि दिसंबर 2020 से फरवरी 2021 तक जारी रहा है और सभी घरेलू एलपीजी ग्राहकों (पीएमयूवाई और गैर-पीएमयूवाई) के लिए 7.3 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। पीएमयूवाई ग्राहकों के बीच एलपीजी की खपत में पिछले वित्त वर्ष की तुलनात्मक अवधि में 8,45,310 मीट्रिक टन से 19.5 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई, जो चालू वित्त वर्ष की तीन महीनों की अवधि के लिए चालू वित्त वर्ष में 10,10,054 मीट्रिक टन थी।

आईओसीएल ने कहा कि साल-दर-साल की तुलना में, कुल घरेलू एलपीजी बिक्री में चालू वित्त वर्ष के दौरान 10.3 प्रतिशत की शानदार वृद्धि दर्ज की गई है। सभी भारतीयों को स्वच्छ ऊर्जा सुलभ बनाने पर केंद्र सरकार के प्रयास से रसोई गैस अधिकांश घरों में इस्तेमाल किया जा रहा है। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तहत गरीब लोगों के लिए ऊर्जा सुलभ, उपलब्ध और सस्ती बनाने के लिए PMUY के तहत 8 करोड़ एलपीजी कनेक्शन दिए गए हैं।

इसके अलावा Covid-19 महामारी के दौरान पीएमयूवाई लाभार्थियों को तीन मुफ्त एलपीजी रिफिल दिए गए थे। कुल 9670 करोड़ रुपये सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में भेजे गए। पिछले महीने एक इंटरव्यू में पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने उन रिपोर्टों का खंडन किया, जिनमें दावा किया गया था कि केंद्र सरकार ने एलपीजी सिलेंडर पर सब्सिडी देना बंद कर दिया है।