ब्रेकिंग
संजय गांधी टाइगर रिजर्व में बढ़ रही बाघों की संख्या, सैलानियों में भी हो रहा इजाफा सफीदों रोड पर 4 लोगों ने किया हमला, कोर्ट के आदेश पर FIR 50 लोगों को ट्रॉली में बेठाकर सड़क पर दौड़ रहा ट्रैक्टर, मूकदर्शक बनी पुलिस नॉर्थ कोरिया ने जापान के ऊपर से दागी बैलिस्टिक मिसाइल विद्याधाम परिसर गूंज रहा मां पराम्बा के जयघोष एवं स्वाहाकार की मंगल ध्वनि से वीडियो वायरल : एयरपोर्ट पर करीना कपूर के साथ बदसलूकी.. इस देवी मंदिर में है 51 फीट ऊंचे दीप स्तंभ, जान जोखिम में डालकर इन्हें कैसे जलाते हैं मां वैष्णो के दरबार में पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह हर रूप में स्त्री का सम्मान करने से प्रसन्न होती हैं मां जगदंबा Navratri Durga Ashtami: दुर्गाष्टमी आज, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और कन्या पूजन महत्व

आसमान में काले बादल, बिलासपुर में आज भी बारिश के आसार

बिलासपुर। मानसून तंत्र के प्रबल होकर अवदाब में परिवर्तित होने के कारण बिलासपुर में विगत दो दिनों से झमाझम बारिश हो रही है। मंगलवार की सुबह से आसमान में काले घने बादलों ने डेरा रखा है। मौसम विभाग की मानें तो आज भी हल्की से मध्यम बारिश की संभावना बनी हुई है। सोमवार को शहर में 33 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड किया गया है

न्यायधानी में सुबह से वातावरण ठंडा है। शुष्क हवाओं के चलने से मौसम सुहावना बन गया है। आसमान में बादलों के आने से बारिश की संभावना है। लालपुर स्थित मौसम वेधशाला के मौसम विज्ञानी डा.एचपी चंद्रा के मुताबिक, कल सुस्पष्ट चिन्हित निम्न दाब का क्षेत्र बंगाल की खाड़ी में था, वह अत्यधिक प्रबल होकर गहरे अवदाब के रूप में परिवर्तित हो गया है। इसके अभी तटीय ओडिशा और उसके आसपास स्थित है। जिसके प्रभाव से अभी प्रदेश के अलग-अलग संभाग में बारिश हो रही है।

बारिश के कारण तापमान में गिरावट भी आने लगी है। बिलासपुर का अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस से गिरकर 31.4 डिग्री में आ गया है। पेंड्रारोड में पारा 30 के नीचे पहुंच गया है। सोमवार रात मस्तुरी ब्लाक में सबसे अधिक 54.5 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड किया गया है। जबकि सबसे कम चार मिलीमीटर कोटा ब्लाक में गिरा है। बिल्हा में 22 तथा तखतपुर में 19.6 मिलीमीटर वर्षा हुई है।

जिले में औसत वर्षा 26.6 मिलीमीटर रिकार्ड किया गया है। बिलासपुर औसत वर्षा से अब भी पीछे हैं। मौसम विभाग का अनुमान है कि सावन में हुई कम बारिश की भरपाई भादो में संभावित है। अभी एक पखवाड़ा शेष है। एक अक्टूबर से पोस्ट बारिश शुरू होगी।