ब्रेकिंग
संजय गांधी टाइगर रिजर्व में बढ़ रही बाघों की संख्या, सैलानियों में भी हो रहा इजाफा सफीदों रोड पर 4 लोगों ने किया हमला, कोर्ट के आदेश पर FIR 50 लोगों को ट्रॉली में बेठाकर सड़क पर दौड़ रहा ट्रैक्टर, मूकदर्शक बनी पुलिस नॉर्थ कोरिया ने जापान के ऊपर से दागी बैलिस्टिक मिसाइल विद्याधाम परिसर गूंज रहा मां पराम्बा के जयघोष एवं स्वाहाकार की मंगल ध्वनि से वीडियो वायरल : एयरपोर्ट पर करीना कपूर के साथ बदसलूकी.. इस देवी मंदिर में है 51 फीट ऊंचे दीप स्तंभ, जान जोखिम में डालकर इन्हें कैसे जलाते हैं मां वैष्णो के दरबार में पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह हर रूप में स्त्री का सम्मान करने से प्रसन्न होती हैं मां जगदंबा Navratri Durga Ashtami: दुर्गाष्टमी आज, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और कन्या पूजन महत्व

लखना-कोलियारी में महानदी के बाढ़ में फंसे आठ श्रमिकों को रेस्क्यू करके निकाला

रायपुर: अभनपुर विकासखंड के ग्राम लखना-कोलियारी में महानदी के बाढ़ में फंसे आठ कृषि श्रमिकों को रेस्क्यू करके बचा लिया है। यह रेसक्यू को जिला प्रशासन और एसडीआरएफ की टीम ने अंजाम दिया। बताया जाता है कि रेस्क्यू ऑपरेशन लगभग दो घंटे तक चला। उल्लेखनीय है कि मंगलवार को शाम कृषि श्रमिकों के बाढ़ में फंसे होने की जानकारी मिलने पर कलेक्टर सौरभ कुमार के निर्देश में अनुविभागीय अधिकारी निर्भय साहू, डिप्टी कलेक्टर व प्रभारी तहसीलदार गोबरा नवापारा मुकेश कुमार कोठारी और संजय मिश्रा कमांडेंट एसडीआरएफ अपने टीम के साथ वहां तत्काल पहुंचे। रात के अंधेरे में रेस्क्यू करते हुए सभी श्रमिकों को सुरक्षित बाहर निकाला।

15 सदस्यीय टीम ने किया रेस्क्यू

एसडीआरएफ की इस 15 सदस्यीय टीम में कमांडेंट संजय मिश्रा सहित नीलकंठ, विष्णु ध्रुव, भोजराज, नारायण, घनश्याम, चंद्रशेखर, जागेश्वर धीवर, भीखम साहू, देवकरण नेताम, नीरज सोनी, खेमराज चंद्राकर, हेमंत सिंहा, झाडूराम, सूर्यकांत साहू, शामिल थे। उन्होंने एक घंटे के भीतर रायपुर से मौके पर बचाव संसाधन एवं बोट सहित उपस्थित होकर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया।

बाढ़ आने से टापू की स्थिति निर्मित

लखना कोलियारी के मध्य भारी वर्षा के कारण महानदी में बाढ़ आने से टापू की स्थिति निर्मित हो गई थी, जिसमें कृषि श्रमिक जो अपने खेत में काम करने गए हुए थे, जो कि घर वापसी के समय बाढ़ में फंस चुके थे। बीच बाढ़ में कुल आठ कृषि श्रमिक प्रेमबती, दुर्गा, टिकेश्वरी, उमेश, हलधर, मंशाराम, सालिक, टिकेश्वर सभी निवासी ग्राम चंपारण और मनराखन निवासी ग्राम लखना बाढ़ के बीच बने हुए टापू में फंसे हुए थे।

कलेक्टर ने क्षति सर्वेक्षण करने के दिए निर्देश

कलेक्टर सौरभ कुमार ने रायपुर जिले में हुए भारी बारिश से क्षति का सर्वेक्षण करने के निर्देश दिए है। अपर कलेक्टर ने बताया कि गत 13 सितंबर को भारी बारिश के कारण रायपुर जिले में 144 मकानों के क्षतिग्रस्त हुए है। एक जन और एक पशु हानि होने की जानकारी है। रायपुर तहसील में 28, आंरग में 18, अभनपुर में 27, गोबरा-नवापारा में 67 और खरोरा में चार मकानों की क्षतिग्रस्त हुए है। रायपुर तहसील में एक जन हानि और खरोरा में एक पशु हानि हुई है।