ब्रेकिंग
Essay Help From Licensed Authors Come affrontare Nervosismo estremo मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज गांधी जयंती के अवसर पर छत्तीसगढ़ शासन की महत्वकांक्षी योजना 'महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना' के शुभारंभ महिला श्रमिक की मौत पर की खबर के बाद जागे परिवहन विभाग और ट्रैफिक पुलिस, नामली थाना क्षेत्र में की कार्रवाई AIIMS : ड्यूटी के दौरान मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर बैन अब तक 7 के शव बरामद, आईएएफ ने 2 चीता हेलीकॉप्टर किए तैनात, 8 लोगों का सफल रेस्क्यू क्या Pavitra Punia- Ejaz Khan ने  कर ली सगाई? दशहरे के दिन ही खुलता है रावण के इस मंदिर का द्वार खुद स्टार्ट किया पम्पिंग सेट, कहा- पशुओं में दूध की होती है वृद्धि हटाए गए कर्मियों को नौकरी देने की मांग, 19-20 को करेंगे भूख हड़ताल

बड़ा खुलासा- 1993 की तर्ज पर ब्रिज-रेलवे ट्रैक उड़ाने वाले थे संदिग्ध आतंकी

नई दिल्ली :  दिल्ली पुलिस के हाथ लगे संदिग्ध आतंकियों की पुछताछ में कई बड़े खुलासे हुए हैं। दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को कहा कि दो आतंकियों जीशान और ओसामा ने पूछताछ में बताया कि उन्होंने भारत में पुलों, रेलवे पटरियों और बड़ी सभाओं पर विस्फोट करने के लिए पाकिस्तान के थट्टा में ट्रेनिंग भी ली थी। वहीं, पाकिस्तान जाने के बावजूद उनके पासपोर्ट पर मुहर नहीं लगी है।

ब्रिज और रेलवे ट्रैक उड़ाने की दी गई थी ट्रेनिंग 
सूत्रों के मुताबिक ओसामा और जीशान ने पूछताछ में बताया है कि उन्हें ब्रिज और रेलवे ट्रैक उड़ाने की ट्रेनिंग दी गई थी। इसके लिए आतंकी बड़ी ट्रेनों के मार्ग और उनकी टाइमिंग की ब्योरा जुटा रहे थे। इन्हें उन ब्रिज और रेलवे लाइन की रेकी करनी थी जहां ब्लास्ट होने पर ज्यादा से ज्यादा लोग मारे जाए।

आतंकी 1993 की तर्ज पर इस बार विस्फोट करने वाले थे
सूत्रों का कहना है कि आतंकी 1993 की तर्ज पर इस बार विस्फोट करने वाले थे। इन धमाकों में RDX का इस्तेमाल होना था। इन लोगों को ओमान से बोट के जरिए ईरान की समुद्री सीमा तक लाया गया और यहां से दूसरी बोट के जरिये गांदरबल जियोनी तक पहुंचे। फिर यहां से इन्हें थट्टा के फार्म हाउस ले जाया गया। जहां इन्हें ट्रेंनिंग दी गई।

इन संदिग्ध आतंकियों के पास से जब्त दो IED में जो एक्सप्लोसिव RDX है उसका वजन करीब 1.5 किलो है। इतना RDX की दोनों IED से भारी तबाही मचा सकते थे।

विदेश आते-जाते थे सभी संदिग्ध आतंकवादी, अंडरवर्ल्ड से थे संपर्क 
बता दें कि इन संदिग्ध आतंकियों के तार दिल्ली से दुबई तक फैले हुए हैं। सूत्रों के मुताबिक अभी ये आतंकी अपनी साजिश के शुरुआती चरण में थे। सभी आतंकियों को महाराष्ट्र, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के अलग-अलग जगहों की रेकी करने की जिम्मादारी सौंपी गई थी। यह सभी संदिग्ध आतंकवादी विदेश आते-जाते थे और इनके अंडरवर्ल्ड से संपर्क थे।

गिरफ्तार आतंकी ओसामा के परिवार का है ड्राय फ्रूट्स का कारोबार
जानकारी के अनुसार, मुंबई निवासी जान मो. उर्फ समीर के तार अंडरवर्ल्ड से जुड़े हैं तो वहीं गिरफ्तार मूलचंद उर्फ लाला भी डी-कंपनी से जुड़ा था। दिल्ली से गिरफ्तार ओसामा का परिवार ड्राय फ्रूट्स का कारोबार करता है। ओसामा कारोबार के सिलसिले में विदेश आया जाया करता था।  लखनऊ से गिरफ्तार मो. आमिर जावेद भी जेद्दा में कई साल तक रह चुका है। आमिर मजहबी शिक्षा देता था। जबकि प्रयागराज में गिरफ्तार जीशान दुबई में नौकरी करता था। दिल्ली पुलिस का कहना है कि जीशान उन दो आतंकवादियों में शामिल है जिसने पाकिस्तान में ट्रेनिंग में ली है।