ब्रेकिंग
मलबे में दबने से एक युवक हुआ घायल, हादसे के वक्त परिवार सदस्य बैठे थे बाहर, टला बड़ा हादसा जर्मनी 2023 में मंदी में प्रवेश करने के लिए तैयार: आर्थिक पूर्वानुमान तीनों आरोपी एसआईटी के तीन दिन की रिमांड पर दो दिन पहले घर से उठा ले गए थे चार भाई, वीडियो भी बनाया; तीन की तलाश जारी बीमा कंपनियों ने की 824 करोड़ की जीएसटी चोरी साकेत कोर्ट ने शरजील इमाम को दी जमानत पोहा बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें या पोहा मिल कैसे लगाये |Poha Making Business In Hindi बुमराह की जगह मोहम्मद सिराज टीम इंडिया में शामिल एमपीपीईबी व एमपीपीएससी में 5 साल से नहीं हुई भर्ती, छात्रों ने निकाली रैली दीपावली के अगले दिन रहेगा सूर्य ग्रहण, करीब एक घंटे का रहेगा समय

राज्य में टीकाकरण की रफ्तार धीमी, एक दिन में पांच लाख वैक्सीन लगाने की तैयारी

रायपुर: कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच अच्छी खबर यह है कि वर्तमान में कोरोना संक्रमम के मामले काफी कम निकल रहे हैं। मगर, अभी भी खतरा पूरी तरह से टला नहीं है। राज्य में लाख कोशिशों के बाद भी टीकाकारण के लक्ष्य से स्वास्थ्य विभाग काफी पीछे चल रहा है। 18 से 44 आयु वर्ग के एक करोड़ 26 लाख 94 हजार युवाओं में से महज 11.06 लाख को ही दोनों टीके लगे हैं।

वहीं, 45 से अधिक आयु वर्ग के 69 लाख 57 हजार लोगों में 24.18 लाख लोगों को दोनों टीके लगे हैं। सरकार और प्रशासन चाहते हैं कि कोरोना के तीसरी लहर आने से पहले ही टीकाकरण की रफ्तार तेज कर दी जाए, ताकि तीसरी लहर में लोगों की जान बचाई जा सके। इसके लिए 20 सितंबर यानी सोमवार को राज्य सरकार ने एक दिन में पांच लाख टीकाकरण का लक्ष्य रखा है।

स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए प्रत्येक जिले में केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाएगी। वहीं मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और स्वास्थ्य कर्मियों को ऐसे लोगों को अधिक संख्या में केंद्र लाने की जिम्मेदारी दी गई है, जिन्होंने अभी तक पहला टीका नहीं लगवाया है या उनके दूसरे टीके का समय आ गया है।

इस मामले में राज्य टीकाकरण अधिकारी डा. वीआर भगत ने बताया कि राज्य में 100 फीसद टीकाकरण जल्द से जल्द किए जाने का लक्ष्य तय किया गया है। कुछ दिनों से डेढ़ लाख टीकाकरण प्रतिदिन हो रहा है, जिसे 20 सितंबर को पांच लाख करने का लक्ष्य है। इसके लिए सभी जिलों को निर्देश जारी किए गए हैं।