ब्रेकिंग
Discovering Academic Term Papers जन-जन को जोड़ें "महाकाल लोक" के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता केंद्र का भी किया शुभारंभ विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों 'झूठ दिआं पंडां कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप

गणेश विसर्जन के लिए जाते समय ट्रॉली में फैला करंट, एक की मौत छह घायल

बीना। गणेश प्रतिमा विसर्जन के लिए जाते समय रविवार शाम करीब 6 बजे खिमलासा थानांतर्गत आने वाले बसाहारी गांव में एक ट्रॉली में 33केव्ही लाइन का करंट फैल गया। करंट लगने से एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि 15 साल के बच्चे के साथ छह अन्य लोग बुरी तरह से झुलस गए हैं। घायलों में एक को सागर रेफर किया गया है, जबकि चार का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

पुलिस ने बताया कि अयोध्यापुरी कॉलोनी बीना में कॉलोनी के लोगों ने मिलकर गणेश प्रतिमा की स्थापना की थी। कॉलोनी के करीब डेढ़ दर्जन लोग ट्रैक्टर-ट्रॉली में झांकी सजाकर प्रतिमा विसर्जन के लिए बसहारी तालाब जा रहे थे। ट्रॉली में झांसी सजाने के लिए टेंट के पाइप लगाए गए थे। बसहारी गांव में पहुंचते ही टेंट का पाइप रोड के ऊपर से निकली 33केव्ही लाइन से टकरा गया। इससे ट्रैक्टर-ट्रॉली में करंट फैल गया।

ट्रॉली में बैठे सभी लोग करंट की चपेट में गए। इसमें रायनगर कॉलोनी निवासी लक्ष्‌मीनारायण पिता राजाराम तिवारी (45), अजय पिता कैलाश लिटौरिया (27), लक्ष्‌मीनारायण पिता सीताराम कटारे (65), पुष्पेंद्र पिता लक्ष्मीनाराण कटारे (23), प्रकाश पिता सुरेंद्र साहू (15). सचिन पिता मनोज कटारे (11), हरिओम पिता लक्ष्‌मीनारायण तिवारी (20) करंट में बुरी तरह से झुलस गए।

सभी घायलों को इलाज के लिए सिविल अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टरों ने लक्ष्‌मीनारायण तिवारी को मृत घोषित कर दिया। जबकि लक्ष्मीनारायण कटारे की हालत गंभीर होने पर उन्हें सागर रेफर किया गया है। सूचना मिलने बीना पुलिस ने घायलों के बयान लेकर जांच शुरू कर दी है।

तखत की वजह से बची कई लोगों की जान

झांकी में शामिल लोगों ने बताया कि ट्रॉली में प्रतिमा रखने के लिए लकड़ी का तखत रखा गया था। प्रतिमा को संभालने के लिए तखत पर भी बहुत से लोग बैठे हुए थे। इसके चलते वह करंट की चपेट में नहीं आ पाए। उन्हीं लोगों के चिल्लाने पर ट्रैक्टर पर सवार लोगों के साथ-साथ गांव के लोगों ने टेंट के पाइप को डंडों की मदद से तिरछा कर ट्रॉली में सवार अन्य लोगों की जान बताई। यदि ट्रैक्टर में तखत नहीं होता तो भयावह हादसा हो सकता था।