ब्रेकिंग
साकेत कोर्ट ने शरजील इमाम को दी जमानत पोहा बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें या पोहा मिल कैसे लगाये |Poha Making Business In Hindi बुमराह की जगह मोहम्मद सिराज टीम इंडिया में शामिल एमपीपीईबी व एमपीपीएससी में 5 साल से नहीं हुई भर्ती, छात्रों ने निकाली रैली दीपावली के अगले दिन रहेगा सूर्य ग्रहण, करीब एक घंटे का रहेगा समय क्या फ्लॉप फिल्मों के बाद आयुष्मान खुराना ने घटाई फीस? जबलपुर आर्डनेंस फैक्ट्री में आग से झुलसे गंभीर नंद किशोर को एयर एंबुलेंस से मुंबई ले जाने की तैयारी ITBP के SI ने की आत्महत्या, दफ्तर में फंदे पर लटकी मिली लाश बस्तर संभाग में नौ नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण चायपत्ती के बैग बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें | How to Start Tea Bag Making Business Plan In Hindi

केरल में लव व नार्को जिहाद के मुद्दे पर धर्म गुरुओं ने किया विमर्श

तिरुअनंतपुरम। लव व नार्कोटिक जिहाद संबंधी पाला बिशप के बयान के बाद केरल में जारी  राजनीतिक घमासान के बीच हिंदू, मुस्लिम व ईसाई धर्म गुरुओं ने सोमवार को तिरुअनंतपुरम में एक बैठक की। इस दौरान उन्होंने समस्या के समाधान पर विमर्श किया। पाला बिशप जोसफ कल्लरैंगाट ने नौ सितंबर को चर्च में मतावलंबियों को संबोधित करते हुए आरोप लगाया था कि केरल में गैर मुस्लिम युवतियों व युवकों को लव व नार्कोटिक जिहाद का शिकार बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा था कि आतंकवादियों का कोई धर्म नहीं होता, लेकिन वे धर्म विशेष की चादर ओढ़े रहते हैं। माकपा व कांग्रेस इन आतंकियों पर अंकुश लगाने में विफल रही हैं। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के लिए सभी मतों को एकजुट होना होगा। दो मतों के बीच कोई समस्या नहीं है। यह एसडीपीआइ का एजेंडा है, जिसका कांग्रेस व माकपा समर्थन कर रही हैं।

वेल्लापल्ली ने की बिशप के बयान की आलोचना

प्रेट्र के अनुसार, केरल में एझावा समुदाय के संगठन एसएनडीपी योगम के नेता वेल्लापल्ली नतेसन ने सोमवार को पाला बिशप के लव व नारकोटिक जिहाद संबंधी बयान की आलोचना करते हुए कहा कि इस मुद्दे पर मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाना सही नहीं है। एसएनडीपी योगम के महासचिव ने कैथोलिक पादरी पर निशाना साधते हुए दावा किया कि भारत में मतांतरण के लिए सबसे ज्यादा ईसाई समुदाय के कुछ वर्ग जाने जाते हैं। पादरी ने आरोप लगाया था कि एझावा समुदाय के युवकों ने हाल में कोट्टायम के पास सायरो-मालाबार चर्च से जुड़ी नौ लड़कियों को मतांतरण का प्रलोभन दिया था।

पाला बिशप की ‘लव जिहाद’ और ‘नारकोटिक जिहाद’ की टिप्पणी पर केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन ने केरल की हालात चिंताजनक बताया और कहा कि वास्तविक स्थिति चिंताजनक है और यह चिंता का कारण है। स्थिति पर उचित रुख नहीं बनाए रखने के लिए केरल सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘बिशप से मिलना और कुछ बताना पर्याप्त नहीं है।’