ब्रेकिंग
Discovering Academic Term Papers जन-जन को जोड़ें "महाकाल लोक" के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता केंद्र का भी किया शुभारंभ विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों 'झूठ दिआं पंडां कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप

छत्‍तीसगढ़ के 27 जिलों को 2,834 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात

रायपुर। छत्‍तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रविवार को अपने निवास कार्यालय में आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम के जरिये राज्य के 27 जिलों को कुल 2,834 करोड़ रुपये के विकास कार्यों की सौगात दी। इसमें 401 कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन शामिल है। इनमें लोक निर्माण विभाग के 2,708 करोड़ की लागत के 332 कार्य सड़क, पुल-पुलिया और भवन निर्माण के हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पौने तीन साल के दौरान कोरोना संक्रमण और लाकडाउन सहित बहुत सारी चुनौतियां सामने आईं। इसके बावजूद छत्तीसगढ़ में विकास और निर्माण के कार्य लगातार चलते रहे हैं।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बीते जून में राज्य के सभी जिलों में विभिन्न विभागों के कुल 8,188 कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया गया था, जिनकी कुल लागत 6,845 करोड़ रुपये थी। जून में ही घर-घर तक पेयजल पहुंचाने के लिए 238 करोड़ की लागत की 658 परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया था, जिस पर तेजी से काम जारी है। तब से लेकर अब तक लगातार और भी बहुत से नए कामों की शुरुआत हुई है और पूर्ण हो चुके कामों का लोकार्पण भी लगातार किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री ने बताया कि आज लोक निर्माण विभाग के 2,708 करोड़ की लागत वाले कार्यों के अलावा अन्य विभागों के 69 कार्यों का भी लोकार्पण और शिलान्यास किया जा रहा है, जिनकी लागत 125.65 करोड़ रुपये है। इनमें ऐसे निर्माण कार्य शामिल हैं, जिनकी वर्षों से मांग रही है। उन्होंने कहा कि हम सामाजिक क्षेत्र की योजनाओं की तरह निर्माण और जनसुविधा विकास की योजनाओं पर भी तेजी से काम कर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि राज्य के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में बेहतर आवागमन सुविधा के लिए 312 सड़कों और पुलों का कार्य तेजी से कराया जा रहा है। इसी तरह मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना के तहत 266 करोड़ की लागत वाले 2,262 कार्य तेजी से पूरे हो रहे हैं। मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि इससे राज्य में सड़क नेटवर्क को और मजबूती मिलेगी। साथ ही जनसुविधाओं का विकास तेजी होगा।