ब्रेकिंग
Discovering Academic Term Papers जन-जन को जोड़ें "महाकाल लोक" के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता केंद्र का भी किया शुभारंभ विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों 'झूठ दिआं पंडां कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप

आतंकवादी हमले में शहीद हुआ परिवार का इकलौता बेटा! अंतिम यात्रा देख रो पड़ा पूरा गांव

सीहोर/आष्टा: मध्य प्रदेश की आष्टा विधानसभा के ग्राम गवाखेड़ा के रहने वाले लोकेंद्र सिंह ठाकुर 4 वर्ष पहले आर्मी में भर्ती हुए थेI  अभी जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा में तैनाती के दौरान आतंकवादियों से मुकाबला करते हुए गोली लगने से शहीद हो गएI उनकी शहीदी की खबर लगते ही गांव में शोक छा गया। वहीं पुलिस और प्रशासन की टीम भी शुक्रवार को ग्राम गवाखेड़ा पहुंची। उसके घर पहुंचकर उसके पिता से मिले और उन्हें धैर्य बंधाया।

आज शहीद का पार्थिव शरीर गांव पहुंचा यहां उनका अंतिम संस्कार किया गया। शहीद लोकेंद्र की पिछले वर्ष ही शादी हुई थीI  वह घर का अकेला वारिस थाI लोकेन्द्र ठाकुर के शहीद होने की खबर जैसे ही उसके परिजनों को लगी जैसे उनके पैरों तले की जमीन खिसक गई हो। क्षेत्र के लोग सोशल मीडिया पर ही श्रद्धांजलि देने लगेI  आज सुबह शनिवार को शहीद के शव को पैतृक गांव गवाखेड़ा पहुंचा तो हज़ारों लोगों का जन समूह उसे श्रद्धांजलि देने पहुंचा I

गांव के जिन बुजुर्गों की आंखों के सामने गलियों में लोकेन्द्र खेला करता था उन्हीं आंखों के सामने उसकी अर्थी निकली तो लोगों की आंखों से अश्रुधारा निकल पड़ीI शहीद की शवयात्रा में युवको की टोली भारत माता की जय और लोकेन्द्र सिंह ठाकुर अमर रहे के जयघोष के साथ चल रहे थेI  हर कोई शहीद लोकेन्द्र को अपने मोबाइल में कैद कर रहा थाI शहीद को अंतिम सलामी दी गई व पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।