ब्रेकिंग
मथुरा पुलिस के हाथ लगे संदिग्ध के फोटो, चोरों की तलाश में जुटी पुलिस इलेक्शन मोड में काग्रेस, इसलिए 'दागियों' पर अभी नो एक्शन डॉक्टरी-इंजीनियरिंग की पढ़ाई के साथ विद्यार्थियों को स्टार्टअप के लिए भी सहयोग की व्यवस्था – मुख्यमंत्री चौहान अलवर पुलिस ने जीरो FIR दर्ज कर रेवाड़ी भेजी; महिला पर संगीन आरोप AAP सुप्रीमो ने ट्वीट लिखा- गुजरात का सह प्रभारी बनने के बाद AAP सांसद केंद्र के टारगेट पर टिफ़िन सर्विस का बिज़नेस कैसे शुरू करें | How to Setup Tiffin Service centre in hindi छत्तीसगढ़ के स्टार्टअप ईको सिस्टम को देखने जल्द आयेगा ऑस्ट्रिया का दल एंबुलेंस में पकड़े गए 25 करोड़ के फर्जी नोट नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. डहरिया ने नगर पंचायत समोदा को प्रदान की एम्बुलेंस गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के करीबियों को मारने की बना रहे थे प्लानिंग, 4 पिस्टल रिकवर

रतलाम में मेडिकल कालेज में बड़ी धोखाधड़ी, एक करोड़ से ज्यादा की सोलर प्लेटे और मशीने ले गया

रतलाम। रतलाम शासकीय मेडिकल कालेज से फर्जी लेटरहेड से एक करोड़ से ज्यादा की लागत की सोलर प्लेटे और इनवर्टर मशीनें ले जाए जाने का मामला सामने आया है। अज्ञात व्यक्ति ने चालाकी दिखाते हुए कंपनी का फर्जी लेटर तैयार कर मेडिकल कालेज को देकर सामान ले जाने की अनुमति ले ली व सामान मेडिकल कालेज से निकाल लिया। पुलिस प्रकरण दर्ज कर जांच में जुट गई है। जानकारी के अनुसार एक निजी कंपनी के फर्जी लेटर के आधार पर मेडिकल कालेज से सोलर सामग्री के मोड्यूल के 69 बाक्स निकाल लिए गए जिसमें 1 हजार 918 माड्यूल सोलर प्लेटे हैं, जिनकी कीमत 1 करोड़ 6 लाख 34 हजार चार सौ रुपए के लगभग की है।

इसके अलावा मेडिकल कालेज में लगी इनवर्टर की दस मशीनें भी ले गए हैं जो लगभग 17 लाख 14 हजार दो सौ एक एक रुपए के लगभग होना बताई जा रही है। इस तरह अज्ञात व्यक्ति मेडिकल कालेज से एक करोड़ 23 लाख 48 हजार से ज्यादा की मशीने और उपकरण ले गया। पुलिस थाना औद्योगिक क्षेत्र ने आरोपित सुनंदा सोलर कंपनी के सहायक प्रबंधक आनंद गालापुरे निवासी उज्जैन के खिलाफ धारा 406, 407, 419, 420, 468, 470, 471 भादवि में अपराध कायम कर मामले को जांच में लिया है। मामले की विवेचना एएसआई सुरेश कुमार शिन्दे को सौंपी गई है।

यह है मामला

उर्जा विभाग ने मेडिकल कालेज में सोलर प्लांट का टैंडर सौर उर्जा का काम करने वाली कंपनी क्लीनटेक सोलर एनर्जी प्राइवेट लि. को दिया था। सौर उर्जा का काम करने के लिए क्लीनटेक कंपनी ने एक अन्य कंपनी सुनंदा सोलर एनर्जी लिमिटेड बुरहाननपुर से अनुबंध किया था। कंपनी ने मिलकर मेडिकल कालेज में सौर सोलर प्लांट लगाने का काम शुरू कर उपकरण सहित अन्य तरह की कई मशीनें लगाई। प्लांट का काम पूरा नहीं हो सका, तय अनुबंध के अनुसार मेडिकल कालेज में सौर उर्जा प्लांट के प्रोजेक्ट का काम पूरा नहीं होने की जानकारी मध्य प्रदेश उर्जा विभाग को मिलने पर उर्जा विभाग की ओर से संबंधित कंपनी का टेंडर निरस्त कर दिया। आरोप है कि इसके बाद अज्ञात व्यक्ति ने कंपनी का फर्जी लेटर जारी कर मेडिकल कालेज से सामान ले जाने की अनुमति ले ली। मेडिकल कालेज से बिना गेट पास के कोई भी सामान बाहर नहीं ले जाया सकता है, इसी के लिए फर्जी लेटर जारी कर मेडिकल कालेज से अनुमति लेकर मेडिकल कालेज में रखी सोलर सामग्री और इनवर्टर मशीने निकाल ली गईं।