ब्रेकिंग
Discovering Academic Term Papers जन-जन को जोड़ें "महाकाल लोक" के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता केंद्र का भी किया शुभारंभ विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों 'झूठ दिआं पंडां कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की पुत्री शर्मिष्ठा मुखर्जी ने की सक्रिय राजनीति से संन्यास लेने की घोषणा

कोलकाता। पूर्व राष्ट्रपति दिवंगत प्रणब मुखर्जी की पुत्री शर्मिष्ठा मुखर्जी ने सक्रिय राजनीति से संन्यास लेने की घोषणा कर दी है। प्रणब मुखर्जी के परिवार से कांग्रेस में वह अकेली रह गई थीं। उनके भाई अभिजीत मुखर्जी कुछ समय पहले ही कांग्रेस छोड़कर तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं। शर्मिष्ठा ने ट्वीट कर यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा-‘सक्रिय राजनीति से विदा ले रही हूं लेकिन कांग्रेस की प्राथमिक सदस्या के तौर पर बनी रहूंगी। कोई अगर देश-जाति की सेवा करना चाहता है तो दूसरे तरीके से भी कर सकता है।’ शर्मिष्ठा ने आगे कहा-‘राजनीति मेरे लिए नहीं है। मैं दूसरे कामों में व्यस्त रहना चाहती हूं। राजनीति, विशेषकर विरोध की राजनीति करने के लिए बहुत भूख की जरूरत होती है। मैंने महसूस किया है कि मुझमें उस तरह की भूख नहीं है इसलिए सक्रिय राजनीति में मेरे रहने का कोई मतलब नहीं रह गया है।’

शर्मिष्ठा ने यह भी साफ किया कि उन्हें पार्टी से कोई शिकायत नहीं है और उन्होंने दूसरे दल में शामिल होने के लिए यह फैसला नहीं लिया है। शर्मिष्ठा ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपने इस फैसले से पहले ही अवगत करा दिया था। गौरतलब है कि शर्मिष्ठा को पिछले साल दिल्ली प्रदेश महिला कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटा दिया गया था।