ब्रेकिंग
टिफ़िन सर्विस का बिज़नेस कैसे शुरू करें | How to Setup Tiffin Service centre in hindi छत्तीसगढ़ के स्टार्टअप ईको सिस्टम को देखने जल्द आयेगा ऑस्ट्रिया का दल एंबुलेंस में पकड़े गए 25 करोड़ के फर्जी नोट नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. डहरिया ने नगर पंचायत समोदा को प्रदान की एम्बुलेंस गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के करीबियों को मारने की बना रहे थे प्लानिंग, 4 पिस्टल रिकवर मोहन भागवत - संकट में केवल भारत ने की श्रीलंका की मदद गांव मेघनवास के पास प्लास्टिक पाइप में फंसा था, नहीं हुई पहचान इटावा डीएम कार्यालय के बाहर किसानों का प्रदर्शन, पीड़ित बोले सुनवाई नही तो करेंगे आत्मदाह बिहार के भागलपुर का तेतरी दुर्गा मंदिर, कभी गांव के लोगों को सपना देकर आयी थीं भगवती प्रदेश में सबसे अधिक सीहोर में शतायु मतदाता, भारत निर्वाचन आयोग करेगा सम्मानित

सीएमएचओ ने किया जिला अस्पताल का निरीक्षण, मरीज जमीन पर थे, बाेले-दाेपहर तक बीस बेड अतिरिक्त बिछ जाना चाहिए

ग्वालियर। सीएमएचओ डा मनीष शर्मा ने आज सुबह जिला अस्पताल मुरार का निरीक्षण किया। वहीं कमलाराजा अस्पताल में बीस अतिरिक्त बेड बिछाए जा चुके हैं। जबकि निरीक्षण के दाैरान जिला अस्पताल में मेडिसिन वार्ड में काफी संख्या में मरीज भर्ती दिखाई दिए। जबकि कुछ मरीज जमीन पर भी भर्ती थे। यह देख सीएमएचओ ने निर्देश दिए कि मेडिसिन वार्ड में बीस बेड दाेपहर तक अतिरिक्त बिछाए जाएं, जिससे मरीजाें काे जमीन पर भर्ती नहीं करना पड़े। वहीं केआरएच में भी बीस अतिरिक्त बेड बिछाने से अब दिक्कतें कम हाेने की उम्मीद जताई जा रही है।

वर्तमान में बढ़ती मरीजों की संख्या को देखते हुए आज सीएमएचओ डा मनीष शर्मा सुबह जिला चिकित्सालय मुरार पहुंचे। यहां अस्पताल का निरीक्षण किया। इस दाैरान उन्हाेंने 20 बेड मेडिसिन वार्ड में अतिरिक्त बिछाने के लिए कहा है। साथ ही स्टाफ काे हिदायत दी है कि यह व्यवस्था दाेपहर तक हाे जाना चाहिए। वही उन्होंने नवीन आइसीयू का भी निरीक्षण किया तथा मौके से वेंडर को फोन कर शेष काम तीन दिन में पूरा करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही उन्होंने आक्सीजन प्लांट का निरीक्षण किया, जो तैयार मिला। इसके बाद प्लांट काे मौके पर चालू करवाकर वास्तविक स्थिति को जाना। आक्सीजन प्लांट सही काम करता पाया गया। वहीं आज जेएएच के कमलाराजा में बच्चों के लिए बीस बेड की अतिरिक्त व्यवस्था कर दी गई है। इस तरह दोनों जगह 40 पलंग की व्यवस्था की गई है। जिससे बच्चों को भर्ती करने की परेशानी से निजात मिलेगी। जिला चिकित्सालय मुरार में निरीक्षण के दौरान डा आलोक पुरोहित, डा विनोद दानौरिया, जिला मीडिया अधिकारी आइपी निवारिया उपस्थित थे।