ब्रेकिंग
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज गांधी जयंती के अवसर पर छत्तीसगढ़ शासन की महत्वकांक्षी योजना 'महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना' के शुभारंभ महिला श्रमिक की मौत पर की खबर के बाद जागे परिवहन विभाग और ट्रैफिक पुलिस, नामली थाना क्षेत्र में की कार्रवाई AIIMS : ड्यूटी के दौरान मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर बैन अब तक 7 के शव बरामद, आईएएफ ने 2 चीता हेलीकॉप्टर किए तैनात, 8 लोगों का सफल रेस्क्यू क्या Pavitra Punia- Ejaz Khan ने  कर ली सगाई? दशहरे के दिन ही खुलता है रावण के इस मंदिर का द्वार खुद स्टार्ट किया पम्पिंग सेट, कहा- पशुओं में दूध की होती है वृद्धि हटाए गए कर्मियों को नौकरी देने की मांग, 19-20 को करेंगे भूख हड़ताल रेलवे स्टेशन पर रेलकर्मी को बदमाशों ने पीट-पीट कर किया घायल, की लूटपाट मिनी सचिवालय तक निकाला रोष मार्च, डीसी को केंद्र सरकार के लिए सौंपा ज्ञापन

मालिक ने कहा चोरी की रिपोर्ट करो, चौकीदार बोला आज बंद है थाना

भोपाल। गांधी नगर स्थित एक निजी स्कूल के चौकीदार को प्रिंसिपल के कमरे से एलईडी टीवी, 10 हजार रुपये नकद चोरी करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। मामले का खुलासा तब हुआ, जब मालिक ने चौकीदार से घटना की शिकायत थाने में करने को बोला। चौकीदार ने मालिक से कहा कि पुलिस ने कहा है कि आज थाना बंद है। कल आकर रिपोर्ट कर जाना। मालिक ने टीआइ से थाना बंद होने की जानकारी चाही तो सारा सच सामने आ गया। शातिर चौकीदार ने स्कूल मालिक को कहानी गढ़कर बताया था कि आधा दर्जन लोगों ने उसे बंधक बनाकर वारदात की और उसे जंगल में छोड़कर भाग गए।
गांधी नगर थाना प्रभारी अरुण शर्मा ने बताया कि मंगलवार को स्कूल मालिक कोहेफिजा निवासी मतीन अहमद ने शिकायत दर्ज कराई थी। उसमें बताया कि चार-पांच अज्ञात बदमाश सोमवार रात को उनके स्कूल के चौकीदार रमेश उर्फ छोटू को अगवा कर जंगल ले गए और बंधक बनाकर उससे मारपीट की। आरोपित स्कूल में प्रिंसिपल के कमरे में लगी एलईडी टीवी और 10 हजार रुपये भी चोरी कर ले गए। सख्ती से पूछताछ करने पर चौकीदार ने चोरी करने के बाद झूठी कहानी गढ़ना स्वीकार कर ली। उसके पास से टीवी, नकदी बरामद कर ली गई है।
12 साल से कर रहा था नौकरी
टीआइ शर्मा ने बताया कि मूलत: रतलाम निवासी रमेश उर्फ छोटू मतीन अहमद के स्कूल में 12 साल से नौकरी कर रहा है। वह स्कूल परिसर में बने घर में रहता है। रमेश ने कहानी गढ़ते हुए मालिक को बताया था कि आधी रात को चार-पांच लोग स्कूल में घुस आए थे। उसे रस्सी से बांधकर मारपीट की। इसके बाद चोरी की। जाते समय वे लोग उसे अपने साथ ले गए थे। इसके बाद उसे जंगल में छोड़कर चले गए। मतीन अहमद ने रमेश से घटना की शिकायत थाने जाकर दर्ज कराने को बोला था। रमेश ने कुछ देर बाद मतीन अहमद को बताया कि वह शिकायत करने पहुंचा था, तो पुलिस ने कहा कि आज थाना बंद है, कल आकर रिपोर्टर्ट कर जाना। इस पर मतीन अहमद ने थाने फोन लगाकर थाना बंद होने की वजह पूछी। बताया गया कि थाना कभी बंद नहीं होता। चोरी की जानकारी और रमेश की गढ़ी कहानी के बारे में पुलिस ने तस्दीक की, तो रमेश ने चोरी करना कुबूल कर लिया।