ब्रेकिंग
राजस्थान में फिर बदलेगा मौसम का मिजाज मामूली विवाद पर लाठियों से भतीजे को बेरहमी से पीटा फायर ब्रिगेड की टीमों और पुलिस ने शुरू की जांच, बड़े पांडालों के पास लगाई फायर ब्रिगेड मेघनाथ का 70 तो कुंभकर्ण के 65 फीट पुतले का होगा दहन, मुकुट वाले हनुमान होंगे आकर्षक टीना डाबी के पहले पति अतहर ने रचाई दूसरी शादी किसानो के लिए बड़ी खबर, DAP और Urea के दाम हुए कम पहचान बदल कर युवक के प्रवेश पर विवाद, विश्व हिंदू परिषद कार्यकर्ताओं ने किया पुलिस के हवाले चायपत्ती के बैग बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें | How to Start Tea Bag Making Business Plan In Hindi मोबाइल पर गेम खेल रहे युवक पर रॉड और चाकू से हमला, 2 आरोपी गिरफ्तार शिवसेना पंजाब चेयरमैन सहित दोनों पक्ष के 11 लोगों पर मामला दर्ज,पुलिस की रेड जारी

सैन्य क्षमताओं को लगातार बढ़ा रहा उत्तर कोरिया, हाइपरसोनिक मिसाइल के परीक्षण का किया दावा

सियोल। उत्तर कोरिया ने एक नई हाइपरसोनिक मिसाइल के सफल परीक्षण का दावा किया है। इस कोरियाई देश ने मंगलवार को एक मिसाइल का परीक्षण किया था। उस समय दक्षिण कोरिया और जापान ने यह संदेह जताया था कि उत्तर कोरिया ने किसी नई मिसाइल का परीक्षण किया है। उत्तर कोरिया अपने परमाणु हथियारों के मुद्दे पर लंबे समय से अटकी वार्ता को लेकर अमेरिका और दक्षिण कोरिया पर दबाव बनाने के लिए अपनी सैन्य क्षमताओं को बढ़ाने में जुटा है। वह इस माह कई बैलिस्टिक और क्रूज मिसाइलों का परीक्षण कर चुका है।

उत्तर कोरिया की सरकारी न्यूज एजेंसी केसीएनए ने बुधवार को मिसाइल परीक्षण की एक तस्वीर जारी की। एजेंसी ने बताया कि यह मिसाइल अपने पहले परीक्षण में सभी अहम तकनीकी जरूरतों पर खरी उतरी है। यह हाइपरसोनिक मिसाइल रणनीतिक हथियार है। इससे देश की रक्षा क्षमताएं मजबूत होंगी। इधर, दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ आफ स्टाफ ने बताया कि उत्तर कोरिया की हाइपरसोनिक मिसाइल विकास के शुरुआती दौर में है। इससे पहले दक्षिण कोरिया और जापान की सेनाओं ने बताया था कि उत्तर कोरिया ने मंगलवार तड़के एक मिसाइल पूर्वी समुद्र में दागी। यह कोई नया हथियार हो सकता है।

उत्तर कोरिया की यह घोषणा दक्षिण कोरियाई और जापानी सेनाओं के यह कहने के एक दिन बाद आई है कि उन्होंने उत्तर कोरिया को अपने पूर्वी समुद्र में मिसाइल दागते हुए पाया है। यूएस इंडो-पैसिफिक कमांड ने कहा कि लांच ने उत्तर कोरिया के अवैध हथियार कार्यक्रम के अस्थिर प्रभाव को उजागर किया है।

एक अलग रिपोर्ट में, केसीएनए ने कहा कि उत्तर कोरिया की संसद का मंगलवार से सत्र शुरू हुआ और आर्थिक नीतियों और युवा शिक्षा जैसे घरेलू मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठकें जारी रहेंगी। कुछ विशेषज्ञों का अनुमान है कि उत्तर कोरिया परमाणु कूटनीति पर गतिरोध को दूर करने के लिए सत्र का उपयोग कर सकता है, लेकिन सरकारी मीडिया की रिपोर्ट में वाशिंगटन और सियोल के प्रति की गई किसी भी टिप्पणी का उल्लेख नहीं किया गया है।