ब्रेकिंग
मथुरा पुलिस के हाथ लगे संदिग्ध के फोटो, चोरों की तलाश में जुटी पुलिस इलेक्शन मोड में काग्रेस, इसलिए 'दागियों' पर अभी नो एक्शन डॉक्टरी-इंजीनियरिंग की पढ़ाई के साथ विद्यार्थियों को स्टार्टअप के लिए भी सहयोग की व्यवस्था – मुख्यमंत्री चौहान अलवर पुलिस ने जीरो FIR दर्ज कर रेवाड़ी भेजी; महिला पर संगीन आरोप AAP सुप्रीमो ने ट्वीट लिखा- गुजरात का सह प्रभारी बनने के बाद AAP सांसद केंद्र के टारगेट पर टिफ़िन सर्विस का बिज़नेस कैसे शुरू करें | How to Setup Tiffin Service centre in hindi छत्तीसगढ़ के स्टार्टअप ईको सिस्टम को देखने जल्द आयेगा ऑस्ट्रिया का दल एंबुलेंस में पकड़े गए 25 करोड़ के फर्जी नोट नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. डहरिया ने नगर पंचायत समोदा को प्रदान की एम्बुलेंस गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के करीबियों को मारने की बना रहे थे प्लानिंग, 4 पिस्टल रिकवर

डेंगू के मरीजों से जांच, रक्त के नाम की जा रही मनमानी वसूली का विरोध

जबलपुर। शहर में डेंगू, मलेरिया के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। नगर निगम जहां सफाई व दवा के छिड़काव पर ध्यान नहीं दे रहा वहीं अस्प्ताल, पैथालाजी सेंटर, मरीजों से रक्त की जांच से लेकर रक्त उपलब्ध कराने के नाम पर जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है। हिंदू सेवा परिषद् ने उक्त आरोप लगाते हुए कलेक्टर के नाम रांझी तहसीलदार नीरज तकरिया को ज्ञापन सौंपा और इस पर तत्काल रोक लगाने की मांग की।

ज्ञापन में आरोप लगाया परिषद के प्रदेश अध्यक्ष अतुल जेसवानी ने बताया कि रक्त मुहैया कराने के नाम पर सरकारी अस्प्तालों में 500 से एक हजार रुपये तक मांगे जा रहे हैं। निजी पैथालाजी सेंटर रक्त की जांच के 1500 से दो हजार रुपये तक वसूल रहे हैं। सिंगल डोनर प्लेटलेट्स का 13 हजार से 15 हजार रुपये तक वसूला जा रहा है। जिससे लोगों को इलाज कराना मुश्किल हो गया है। ज्ञापन के माध्यम से इस तरह के भ्रष्टाचार पर तत्काल रोक लगाने की मांग परिषद के महानगर अध्यक्ष सौरभ जैन, नितिन सोनीपाली, गौरव साहू, अक्ष्य झा, मनोज तिवारी, दीपक विश्वकर्मा, राजा रजक, मुकेश बर्मन आदि ने की है।

क्रूरता से गोवंश को ले जाने के वायरल वीडियो पर बिफरी हिंदू धर्मसेना : गोवंश को पकड़ कर उसे क्रूरतापूर्वक वाहन में ले जाए जाने के वायरल वीडियो बिफरी हिंदू धर्मसेना ने अधारताल थाने का घेराव कर दिया। धर्मसेना के अध्यक्ष योगेश अग्रवाल ने बताया कि नगर निगम के हांका गैंग बेसहारा मवेश्यिों को पकड़कर सुरक्षित स्थानों छोड़ा जा रहा है। लेकिन इंटरनेट मीडिया में हांका गैंग का एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें गोवंश को बुरी तरह रस्सी से बांधकर ट्राली में ले जाया जा रहा है। इसके विरोध में धर्मसेना ने अधारताल थाने का घेराव किया और थाना प्रभारी व नगर निगम जोन अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में यह बताया कि अधारताल निवासी समाजसेवी अंजू पांडे व वाल्मीकि केवट ने दावा किया है कि वह जबलपुर का ही वीडियो है। धर्मसेना ने ज्ञापन के माध्यम से हांका गैंग के कर्मचारियों के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई किए जाने की मांग की गई है। इस अवसर पर अरविंद बाबा, लता सिंह ठाकुर, भागचंद पटेल, विनय पांडे, मंजू जैन, अंजू पांडे, मुकेश रजक, हेमराज उपाध्यय, दीपक ग्राय, अनुराग डेंगरे मौजूद रहे।