ब्रेकिंग
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज गांधी जयंती के अवसर पर छत्तीसगढ़ शासन की महत्वकांक्षी योजना 'महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना' के शुभारंभ महिला श्रमिक की मौत पर की खबर के बाद जागे परिवहन विभाग और ट्रैफिक पुलिस, नामली थाना क्षेत्र में की कार्रवाई AIIMS : ड्यूटी के दौरान मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर बैन अब तक 7 के शव बरामद, आईएएफ ने 2 चीता हेलीकॉप्टर किए तैनात, 8 लोगों का सफल रेस्क्यू क्या Pavitra Punia- Ejaz Khan ने  कर ली सगाई? दशहरे के दिन ही खुलता है रावण के इस मंदिर का द्वार खुद स्टार्ट किया पम्पिंग सेट, कहा- पशुओं में दूध की होती है वृद्धि हटाए गए कर्मियों को नौकरी देने की मांग, 19-20 को करेंगे भूख हड़ताल रेलवे स्टेशन पर रेलकर्मी को बदमाशों ने पीट-पीट कर किया घायल, की लूटपाट मिनी सचिवालय तक निकाला रोष मार्च, डीसी को केंद्र सरकार के लिए सौंपा ज्ञापन

836 भारतीय शांतिरक्षक उत्कृष्ट सेवा के लिए संयुक्त राष्ट्र पदक से सम्मानित

दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र मिशन में तैनात 800 से अधिक भारतीय शांतिरक्षकों की सेवा पूरी होने पर उन्हें उत्कृष्ट सेवा के लिए संयुक्त राष्ट्र पदक से सम्मानित किया गया। दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNMISS) की रिपोर्ट के अनुसार भारत के 836 शांतिरक्षकों को विश्व के सबसे छोटे देश में स्थायी शांति लाने की संकल्पित सेवा के वास्ते हाल में संयुक्त राष्ट्र पदक से सम्मानित किया गया है।

UNMISS फोर्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल शैलेश तिनाइकर ने कर्तव्यों का सफलतापूर्वक निर्वहन करने के लिए भारतीय बटालियन की सराहना की और रेन्क (दक्षिण सूडान) में 32 कर्मियों को बचाने और उन्हें जुबा (दक्षिण सूडान की राजधानी) सुरक्षित पहुंचाने के लिए भारतीय शांतिरक्षकों के प्रयासों की प्रशंसा की।  दक्षिण सूडान में भारत के राजदूत विष्णु शर्मा इस समारोह में विशिष्ट अतिथि थे।

उन्होंने कहा कि दक्षिण सूडान में स्थायी शांति के लिए भारतीय शांतिरक्षकों द्वारा दिखाया साहस, प्रतिबद्धता और बलिदान उन समुदायों के लिए आशा की किरण है, जिनकी आप सेवा करने के लिए वहां मौजूद थे। आपने संयुक्त राष्ट्र और अपने देश को बहुत गौरवान्वित किया है। अगस्त 2021 तक, यूएनएमआईएसएस में कुल 19,101 जवान तैनात थे। भारत वर्तमान में मिशन में दूसरा सबसे बड़ा सैन्य योगदान देने वाला देश है।