ब्रेकिंग
दुर्गोत्सवऔर दशहरा उत्सव मनाने ट्रैफिक पुलिस ने बनाया प्लान, शाम 5 बजे से रात दो बजे तक रूट रहेगा डायवर्ट महिलाओं ने की 18 किलोमीटर पैदल यात्रा, मां जालपा को ओढाई 72 मीटर लंबी चुनरी MP की सबसे लंबी मोहनिया सुरंग बनकर तैयार, जाने क्या है, खासियत होटल में सेंटरिंग टूटने से हादसा, पिता-पुत्र की मौत, एक घायल Old Coin sell आप भी पुराने स‍िक्‍के और नोट बेच कर रातों रात बन सकते हैं करोड पति आपसी विवाद में 30 मिनट तक चले फावड़े, खूनी संघर्ष में दोनों की मौत 1.64 लाख चोरी; गड़बड़ी पकड़े जाने से पहले ही रफू चक्कर हो गया बड़ी संख्या में भक्तों ने किया मनमोहक गरबा कंप्यूटर और लैपटॉप रिपेयरिंग व्यवसाय कैसे शुरू करें | How to Start Computer and Laptop Repairing Business in Hindi बालोद की MLA संगीता सिन्हा ने जमकर खेला गरबा, खुद के बीच जनप्रतिनिधि को पाकर खुश हुई जनता

वरूण गांधी ने वीडियो ट्वीट कर कहा हत्या के जरिए किसानों को चुप नहीं कराया जा सकता, पढ़िए राकेश टिकैत ने कैसे किया समर्थन

नई दिल्ली। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने एक बार फिर लखीमपुर खीरी मामले में इंसाफ की मांग की है। अपनी मांग को कठोर करते हुए इस बार उन्होंने सतारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के सांसद वरूण गांधी के एक ट्वीट को रिट्वीट किया है। दरअसल एक दिन पहले ही वरूण गांधी ने अपने ट्विटर हैंडल से 37 सेकंड का एक वीडियो ट्वीट किया था, इस वीडियो में ये दिख रहा था कि किस तरह से थार प्रदर्शन कर रहे किसानों को रौंदते हुए निकल जाती है। उसके पीछे एक कार भी होती है मगर वो भी नहीं रूकती है। थार के किसानों के बीच से निकल जाने पर वहां भगदड़ और चीख पुकार मच जाती है।

इस वीडियो को ट्वीट करते हुए वरूण गांधी ने इंग्लिश में लिखा (The video is crystal clear. Protestors cannot be silenced through murder. There has to be accountability for the innocent blood of farmers that has been spilled and justice must be delivered before a message of arrogance and cruelty enters the minds of every farmer.) था। इसका मतलब है कि वीडियो बिल्कुल साफ है। हत्या के जरिए प्रदर्शनकारियों को चुप नहीं कराया जा सकता। किसानों के गिराए गए खून के लिए जवाबदेही तय होनी चाहिए, अहंकार और क्रूरता का संदेश हर किसान के दिमाग में आने से पहले न्याय दिया जाना चाहिए।

वरूण गांधी के इस ट्वीट के साथ अटैच किए गए वीडियो को राकेश टिकैत ने भी ट्वीट किया। इससे पहले भी राकेश टिकैत लखीमपुर खीरी मामले में बेहद कड़ा फैसला लेने की बात कह चुके हैं। उन्होंने बीजेपी नेता अरूण मिश्रा और उनके बेटे की गिरफ्तारी की भी मांग की है। हालांकि प्रदेश सरकार की ओर से इस मामले में मृत किसानों के परिवार को 45 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और घायलों को 10 लाख रुपये की आर्थिक मदद का ऐलान किया जा चुका है।